कवि का हृदय एवं अन्य पारिवारिक कहानियां - रबीन्द्रनाथ टैगोर Kavi Ka Hraday Va Anya Paarivarik Kahaniyan - Hindi book by - Rabindranath Tagore
लोगों की राय

सामाजिक >> कवि का हृदय एवं अन्य पारिवारिक कहानियां

कवि का हृदय एवं अन्य पारिवारिक कहानियां

रबीन्द्रनाथ टैगोर

प्रकाशक : विश्व बुक्स प्रकाशित वर्ष : 2015
पृष्ठ :135
मुखपृष्ठ : पेपरबैक
पुस्तक क्रमांक : 9286
आईएसबीएन :9788179873014

Like this Hindi book 6 पाठकों को प्रिय

22 पाठक हैं

प्रस्तुत हैं पुस्तक के कुछ अंश

परिवार, समाज और साहित्य का गहरा संबंध है, इसलिए साहित्यकार चाहे वह कवि हो या कथाकार परिवार और समाज के प्रभाव से नहीं बच सकत्ता। टैगोर भी इसके अपवाद नहीं हैं। वह कवि होने के साथ-साथ कथाकार भी हैं।

टैगोर ने परिवार और समाज के विभिन्न वर्गों के जीवन, उनके सुख-दुःख आदि को बड़ी गहराई से देखा ही नहीं, अनुभव भी किया था। उनकी ये अनुभूतियां कहानियों में सहज ही अभिव्यक्त हुई हैं।

टैगोर की ऐसी ही चुनी हुई कहानियों का संकलन है - ‘कवि का हृदय एवं अन्य पारिवारिक कहानियां’ सरल एवं सुबोध हिंदी में प्रस्तुत कहानियों में पारिवारिक जीवन के सरस, खट्टे-मीठे अनुभव भरे पड़े हैं।


अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book