बच्चों का विकास कैसे करें - सरश्री Bacchon ka vikas kaise karain - Hindi book by - Sirshree
लोगों की राय

व्यवहारिक मार्गदर्शिका >> बच्चों का विकास कैसे करें

बच्चों का विकास कैसे करें

सरश्री

प्रकाशक : मंजुल पब्लिशिंग हाउस प्रकाशित वर्ष : 2016
पृष्ठ :192
मुखपृष्ठ : पेपरबैक
पुस्तक क्रमांक : 9573
आईएसबीएन :9788183227384

Like this Hindi book 3 पाठकों को प्रिय

194 पाठक हैं

प्रस्तुत हैं पुस्तक के कुछ अंश

बच्चों का विकास कैसे करें एक कहानी से सीखें SON OF BUDDHA

परवरिश और नींव-नियम रहस्य बच्चों की परवरिश कैसे करें - इस विषय पर रोचक तरीके से सिखाने वाला यह एक अनोखा उपन्यास है। इसमें माँ यशोधा, दादाजी सुयोधन और पिताजी सिद्धार्थ मिलकर बेटे राहुल को प्रशिक्षण देकर संपूर्ण रूप से सफ़ल इंसान बनाने का प्रयास कर रहे हैं। वे इस लक्ष्य की तैयारी क्यों और कैसे करते हैं... क्या राजा सिद्धार्थ, अपने पुत्र राहुल को उसके उच्च स्वरुप और नींव का दर्शन करवा पाते हैं ? राहुल को गुप्त कक्ष और नींव-नियम का रहस्य वे कैसे बताते हैं ? इन सभी सवालों के जवाब पाएँ इस अदभुत कहानी में।

आज के अभिभावकों के लिए लिखा गया परवरिश पर आधारित यह उपन्यास बच्चों के साथ रहने वाले सभी शुभचिंतक पढ़ सकते हैं। आप भी इस रोचक कहानी द्वारा स्वयं की ट्रेंनिंग कर सकते हैं, जिससे आपकी गलत आदतों को समाप्त करने तथा सद्गुणों का विकास करने की अत्यावश्यकता का निर्माण हो सके। तो चलिए, सन ऑफ़ बुद्धा की दुनिया में प्रवेश करके जानते हैं कि परवरिश और क्षमा के रहस्य का जादू बच्चों के जीवन में कैसे कार्य करता है !


अन्य पुस्तकें

लोगों की राय

No reviews for this book