किवाड़ - कुमार अंबुज Kivaar - Hindi book by - Kumar Ambuj
लोगों की राय

नई पुस्तकें >> किवाड़

किवाड़

कुमार अंबुज

प्रकाशक : राधाकृष्ण प्रकाशन प्रकाशित वर्ष : 2016
आईएसबीएन : 9788183618175 मुखपृष्ठ : सजिल्द
पृष्ठ :127 पुस्तक क्रमांक : 9752

Like this Hindi book 4 पाठकों को प्रिय

385 पाठक हैं

प्रस्तुत हैं पुस्तक के कुछ अंश

कुमार अम्बुज की कविताओं में एक तरह की ऐसी ताज़गी, सहजता और ओढ़ी हुई वैचारिक मुद्रा की अनुपस्थिति है जो उन्हें बहुत से समकालीन युवा कवियों से अलग करती है। 'किवाड़' में सामान्य परिचित वस्तुएँ और स्थितियाँ ऐसे गहरे लगाव और अभिव्यक्ति के संयम के साथ प्रस्तुत हुई हैं कि उनसे मानवीय सम्बन्धों और सच्चाइयों की सूक्ष्म अनुगूँज सुनाई पड़ती है। —नेमिचन्द्र जैन कुमार अम्बुज के पास दृष्टि की तलाश और बोध का धरातल है और यही बात उनकी कविताओं में व्यक्त अनुभव लोक को मूर्त और सार्थक बनाती है। कवि की चिन्ताएँ ज़्यादा बड़ी हैं, उनकी जड़ें दूर तक फैली हुई हैं—अपने आसन्न परिवेश से मनुष्य के सुदूर इतिहास तक। यहाँ अपने समय के अतुकान्त जीवन के लिए तुकें ढूँढऩे की यह रचनात्मक लड़ाई पाठक को ऐसे बिन्दु तक ले जाती है जहाँ जीवन और काव्य के बीच का पार्थक्य समाप्त हो जाता है। —केदारनाथ सिंह

अन्य पुस्तकें

To give your reviews on this book, Please Login