Hindi Books on "Criticism" at Pustak.org
लोगों की राय

आलोचना

उपन्यास की संरचना

गोपाल राय

मूल्य: Rs. 650

हिंदी में उपन्यास की संरचना के विवेचन का यह पहला गंभीर प्रयास है।   आगे...

तुलनात्मक साहित्य सैद्धांतिक परिप्रेक्ष्य

हनुमान प्रसाद शुक्ल

मूल्य: Rs. 550

तुलनात्मक साहित्य अध्ययन को लेकर सबसे बड़ी भ्रान्ति तुलनीय साहित्यों की भाषाओँ की विशेषज्ञता को लेकर है   आगे...

तीन सौ रामायणें एवं अन्य निबंध

संजीव कुमार

मूल्य: Rs. 250

पुस्तक की भूमिका के अनुसार, ‘जिन्होंने भी रामानुजन के आलेख को पढ़ा है, उन्होंने महसूस किया है कि यह शोध और विश्लेषण की गहराई का कितना नायाब नमूना है।   आगे...

सूरीनाम हिंदी परिषद का इतिहास

पुष्पिता

मूल्य: Rs. 500

गत पच्चीस वर्षों में सूरीनाम हिन्दी परिषद की अहम भूमिका है जिसने नीदरलैंड में बस रहे सूरीनामी भारतवंशियों के भीतर भी हिन्दी भाषा और हिन्दुस्तानी संस्कृति के संस्कार बसाए।   आगे...

सूर साहित्य

हजारी प्रसाद द्विवेदी

मूल्य: Rs. 350

श्री हजारीप्रसाद भक्ति-तत्त्व, प्रेम-तत्त्व, राधाकृष्ण-मतवाद आदि के सबंध में जो भी उल्लेख-योग्य, जहाँ कहीं से पा सके हैं, उसे उन्होंने इस ग्रथ में संग्रह किया है   आगे...

श्रीलाल शुक्ल की दुनिया

अखिलेश तत्भव

मूल्य: Rs. 350

प्रसिद्ध युवा कथाकार अखिलेश द्वारा सम्पादित यह कृति श्रीलाल शुक्ल के व्यक्तित्व और सृजन के अध्ययन की विभिन्न विचारोत्तेजक छवियाँ प्रस्तुत करती है।

  आगे...

शब्द परस्पर

निरंजन देव शर्मा

मूल्य: Rs. 350

कृष्णा सोबती के समग्र रचनात्मक अवदान पर केन्द्रित मुकम्मल किताब, बल्कि किताबों की जरूरत बनी हुई है, निरंजन देव की ‘शब्द परस्पर’ इस जरूरत को पूरी करने की दिशा में महत्त्वपूर्ण कदम है।   आगे...

सौन्दर्यशास्त्र के तत्व

कुमार विमल

मूल्य: Rs. 600

इस पुस्तक में सौंदर्यशास्त्र को व्यावहारिक आलोचना के धरातल पर उतारा गया है   आगे...

समकालीनता और साहित्य

राजेश जोशी

मूल्य: Rs. 600

आलोचना से यह उम्मीद तब तक निरर्थक ही होगी जब तक कि कवि स्वयं इस दृश्य के मूल्यांकन की कोशिश नहीं करेंगे। यही हालत गद्य की भी हे, विशेष रूप से कहानी और उपन्यास की।   आगे...

समकालीन काव्य यात्रा

नन्दकिशोर नवल

मूल्य: Rs. 550

प्रस्तुत पुस्तक में हिंदी के सुपरिचित आलोचक डॉ. नंदकिशोर नवल ने विजयदेव नारायण साही से लेकर धूमिल तक की कविता का गहन, विशद और वस्तुपरक अध्ययन कर यह सिद्ध कर दिया है कि आधुनिक हिंदी कविता न केवल निरंतर गतिशील है, बल्कि वह विकासशील भी है।   आगे...

सफदर: व्यक्तित्व और कृतित्व

सफदर हाशमी

मूल्य: Rs. 250

‘जन नाट्य मंच’ के संस्थापक सदस्य और सुविख्यात युवा रंगकर्मी सफ़दर हाशमी की स्मृति से जुड़ी यह पुस्तक साहित्य और संस्कृति के क्षेत्र में एक अलग तरह का महत्त्व रखती है।   आगे...

सात भूमिकाएँ

महादेवी वर्मा

मूल्य: Rs. 350

अपनी विशिष्ट ‘तर्कसंगत पद्धति’ से दूधनाथ सिंह ने महादेवी के रचनाकर्म को विवेचित किया है।

  आगे...

रेणु का है अन्दाजे बयां और

भारत यायावर

मूल्य: Rs. 300

रेणु के अंदाज़े-बयाँ को अपने ही ढंग से प्रस्तुत करने वाली यह अनोखी पुस्तक है।   आगे...

राग दरबारी आलोचना की फाँस

रेखा अवस्थी

मूल्य: Rs. 600

राग दरबारी पर यह पहली आलोचना पुस्तक है   आगे...

प्रेमचंद एक तलाश

श्रीराम त्रिपाठी

मूल्य: Rs. 450

आलोचक श्रीराम त्रिपाठी ने वस्तुतः हिन्दी और उर्दू में समानरूपेण समादृत अमर कथाशिल्पी मुंशी प्रेमचन्द को उनकी रचनाओं में तलाश किया है।   आगे...

प्रेमचंद और उनका युग

रामविलास शर्मा

मूल्य: Rs. 700

इस पुस्तक में विद्वान लेखक ने प्रेमचंद की कृतियों का मूल्यांकन ऐतिहासिक सन्दर्भ और सामाजिक परिवेश की पृष्ठभूमि में किया है।   आगे...

प्रेमचंद और भारतीय समाज

नामवर सिंह

मूल्य: Rs. 250

आधुनिक रचनाकारों में इकलौते प्रेमचन्द ही हैं जिनमें हिन्दी के शीर्ष स्थानीय मार्क्सवादी आलोचक प्रो. नामवर सिंह की दिलचस्पी निरन्तर बनी रही है। प्रेमचन्द पर विभिन्न अवसरों पर दिये गए व्याख्यान एवं उन पर लिखे गए आलेख इस पुस्तक में एक साथ प्रस्तुत हैं।   आगे...

प्रेमचंद : विगत महत्ता और वर्तमान अर्थवत्ता

मुरली मनोहर प्रसाद सिंह

मूल्य: Rs. 995

दस्तावेज़ी महत्त्व के साथ-साथ यह पुस्तक प्रेमचन्द के पाठकों के लिए भी बहुत उपयोगी सिद्ध होगी।

  आगे...

प्रेमचंद: एक साहित्यिक विवेचन

नन्द दुलारे वाजपेयी

मूल्य: Rs. 250

महान कथाकार प्रेमचंद के संपूर्ण कथा–साहित्य को उसकी सभी विशेषताओं और विफलताओं के साथ विश्लेषित करने का प्रयास यहाँ लेखक ने किया है।   आगे...

प्राचीन भारत के कलामक विनोद

हजारी प्रसाद द्विवेदी

मूल्य: Rs. 400

इसमें लेखक ने गुप्तकाल के कुछ सौ वर्ष पूर्व से लेकर कुछ सौ वर्ष बाद तक के साहित्य का अवगाहन करते हुए उस काल के भारतवासियों के उन कलात्मक विनोदों का वर्णन किया है जिन्हें जीने की कला कहा जा सकता है।

  आगे...

फिलहाल

अशोक वाजपेयी

मूल्य: Rs. 250

कविता को फिर जीवित तात्कालिकता देने के लिए और काव्य-भाषा को, जो बिंबों में फँसकर गतिहीन और जड़ हो चुकी थी; ताजगी और जीवंतता देने के लिए, युवा कवियों ने अगर सपाटबयानी की ओर रुख किया तो यह स्वाभाविक और जरूरी ही था।   आगे...

निराला की साहित्य साधना : खंड-1-3

रामविलास शर्मा

मूल्य: Rs. 2985

निराला के व्यक्तित्व के जटिल और सूक्ष्म अन्तर्विरोधों से निःसृत कृतित्व का इस पुस्तक में मर्मस्पर्शी मूल्यांकन हुआ है जो अत्यन्त दुर्लभ तो है ही, बेमिसाल भी है।

  आगे...

निराला काव्य की छवियाँ

नन्दकिशोर नवल

मूल्य: Rs. 350

निराला-काव्य के अध्येता डॉ. नंदकिशोर नवल ने, जो निराला रचनावली के संपादक भी हैं; प्रस्तुत पुस्तक में निस्संदेह निराला के काव्य-लोक की बहुत ही भव्य फलक दिखलाई है।   आगे...

निज ब्रह्म विचार

पुरुषोत्तम अग्रवाल

मूल्य: Rs. 150

सैद्धान्तिक प्रश्नों से जूझने से लेकर अटलांटा, वर्धा और गोपेश्वर के अनुभव-संवेदनों को पाठकों के सामने प्रस्तुत करने तक के रूप में ये लेख लगातार उत्सुकता के साथ पढ़े गए।

  आगे...

मुक्तिबोध: ज्ञान और संवेदना

नन्दकिशोर नवल

मूल्य: Rs. 600

दूसरे शब्दों में मुक्तिबोध पर यह पहली मुकम्मल किताब है।   आगे...

मीरा और मीरा

महादेवी वर्मा

मूल्य: Rs. 150

महादेवी वर्मा के मीरा विषयक व्याख्यान

  आगे...

महापुरुषों का स्मरण

हजारी प्रसाद द्विवेदी

मूल्य: Rs. 175

कहना न होगा कि प्राचीन तथा समकालीन महापुरुषों को समझने में यह पुस्तक एक महत्त्वपूर्ण दस्तावेज़ का कार्य करेगी।

  आगे...

महादेवी

दूधनाथ सिंह

मूल्य: Rs. 600

यह किताब महादेवी की लिखत-पढ़त, उनके चित्रों-रेखांकनों, उनके जीवन-वृत्त और उनके बारे में लेखक की संस्कृतियों के भीतर से उनको समझने की एक निजी कोशिश है।

  आगे...

मध्यकालीन बोध का स्वरूप

हजारी प्रसाद द्विवेदी

मूल्य: Rs. 395

प्रस्तुत पुस्तक में आचार्य द्विवेदी के पाँच व्याख्यान संकलित हैं, जो उन्होंने टैगोर प्रोफेसर के नाते पंजाब विश्वविद्यालय में दिए थे।

  आगे...

कुछ पूर्वग्रह

अशोक वाजपेयी

मूल्य: Rs. 295

पिछले वर्षो में हिंदी आलोचना में जो नाम छाए रहे हैं उनमे एक नाम निश्चय ही अशोक वाजपेयी का है कविता के लिए उनका पूर्वग्रह अब कुख्यात ही है।   आगे...

कुछ कहानियाँ: कुछ विचार

विश्वनाथ त्रिपाठी

मूल्य: Rs. 300

इतना कहना लेकिन जरूरी लगता है कि कुछ स्वातंत्रयोत्तर हिंदी कहानियों पर लिखी ये समीक्षाएँ पढने के बाद वे कहानियां फिर-फिर पढने को जी करता है।   आगे...

कविता के नये प्रतिमान

नामवर सिंह

मूल्य: Rs. 595

कविता के नए प्रतिमान में समकालीन हिंदी आलोचना के अंतर्गत व्याप्त मूल्यांध वातावरण का विश्लेषण करते हुए उन काव्यमूल्यों को रेखांकित करने का प्रयास किया गया है जो आज की स्थिति के लिए प्रासंगिक हैं।

  आगे...

कविता के आर पार

नन्दकिशोर नवल

मूल्य: Rs. 350

इस तरह की पुस्तक हिंदी काव्य-प्रेमियों के लिए एक जरूरी पुस्तक है, जो उनकी आस्वादन क्षमता को विकसित करेगी।   आगे...

कथाकार कमलेश्वर और हिंदी सिनेमा

उज्ज्वल अग्रवाल

मूल्य: Rs. 450

प्रस्तुत शोध-प्रबंध कमलेश्वर के हिन्दी सिनेमा में विराट योगदान को रेखांकित करता है।   आगे...

कथा समय में तीन हमसफर

निर्मला जैन

मूल्य: Rs. 195

नई कहानी दौर की एक विशिष्ट कथा–त्रयी की रचनात्मकता पर एक मानक कलम से उतरी अनूठी आलोचना कृति।

  आगे...

कार्ल मार्क्स : कला और साहित्य चिंतन

नामवर सिंह

मूल्य: Rs. 595

प्रस्तुत पुस्तक में संकलित लेखों को पढ़कर पाठक साहित्य और कला से संबंधित इन सभी मुद्दों से परिचित हो सकेगा।

  आगे...

कामायनी एक पुनर्विचार

गजानन माधव मुक्तिबोध

मूल्य: Rs. 350

कामायनी : एक पुनर्विचार, व्यावहारिक समीक्षा के क्ष्रेत्र में एक सर्वथा नवीन विवेचन-विश्लेषण-पद्धति का प्रतिमान है।   आगे...

कल्पलता

हजारी प्रसाद द्विवेदी

मूल्य: Rs. 175

निश्चय ही द्विवेदी जी की यह कृति शास्त्र को लोक से जोड़नेवाली उनकी विदग्ध रचनात्मकता का अप्रतिम साक्ष्य है।

  आगे...

जो बचा रहा

नन्द चतुर्वेदी

मूल्य: Rs. 400

प्रस्तुत पुस्तक संस्मरण और आलोचना के मिश्रण से बने लेखों का संग्रह है।   आगे...

जीने का उदात्त आशय

पंकज चतुर्वेदी

मूल्य: Rs. 600

लेखक ने इस पुस्तक के पहले निबंध में कुअंर नारायण के विचारों और उनकी समग्र काव्य-यात्रा से चुनी हुई कविताओं के विश्लेषण के जरिए उनकी काव्य-दृष्टि को समझने और उसका एक स्वरुप निर्मित करने की चेष्टा की है।   आगे...

जब प्रश्नचिन्ह बौखला उठे

गजानन माधव मुक्तिबोध

मूल्य: Rs. 195

इस संग्रह में ‘मुक्तिबोध रचनावली’ के प्रकाशन के बाद प्राप्त उनके राजनीतिक निबन्धों को संकलित किया गया है।   आगे...

हिंदी वेब साहित्य

सुनील कुमार लवटे

मूल्य: Rs. 600

हिंदी भाषा और साहित्य की विभिन्न वेबसाइट्‌स पर प्रकाशित साहित्य का यह पहला व्यवस्थित अनुसंधान है ।   आगे...

हिंदी उपन्यास का इतिहास

गोपाल राय

मूल्य: Rs. 950

कोशिश यह की गई है कि यह पुस्तक हिन्दी उपन्यास का मात्र ‘इतिहास’ न बनकर ‘विकासात्मक इतिहास’ बने।   आगे...

हिंदी उपन्यास: एक अंतर्यात्रा

रामदरश मिश्र

मूल्य: Rs. 450

लेखक की अन्तर्दृष्टि हिन्दी उपन्यास के संश्लिष्ट व्यक्तित्व और उसकी चेतना-यात्रा को पहचानने में सफल हुई है।   आगे...

हिंदी की साहित्यिक संस्कृति और भारतीय आधुनिकता

राजकुमार

मूल्य: Rs. 400

यह पुस्तक गांधी और मार्क्स का एक नया भाष्य ही नहीं प्रस्तुत करती, बल्कि भारतीय आधुनिकता की विलक्षणताओं को भी रेखांकित करने का उपक्रम करती है।   आगे...

हिंदी कविता अभी बिल्कुल अभी

नन्दकिशोर नवल

मूल्य: Rs. 500

संवेदनशीलता के साथ स्पष्टता और आत्मीयता डॉ– नवल की ऐसी विशेषताएँ हैं, जिन्हें सराहते ही बनता है।   आगे...

हिंदी कहानी का इतिहास: खंड-3, (1976-2000)

गोपाल राय

मूल्य: Rs. 695

हिन्दी कहानी के विकासेतिहास में रुचि रखने वाले पाठकों, शोधार्थियों व लेखकों के लिए समान रूप से महत्त्वपूर्ण कृति।   आगे...

हिंदी कहानी का इतिहास: खंड-2, (1951-1975)

गोपाल राय

मूल्य: Rs. 795

यह किताब हिन्दी कहानी का इतिहास का दूसरा खंड है। पहले खंड में 1900-1950 अवधि की हिन्दी कहानी का इतिहास प्रस्तुत किया गया था।   आगे...

हिंदी का गद्यपर्व

नामवर सिंह

मूल्य: Rs. 695

इस पुस्तक में अलग-अलग अवसरों पर लिखी गई पाँच समीक्षाएँ भी मौजूद हैं।

  आगे...

हिंदी आलोचना में कैनन निर्माण की प्रक्रिया

मृत्युंजय

मूल्य: Rs. 500

बकौल लेखक, ''मैंने पाया कि हिन्दी आलोचना में कैनन-निर्माण की प्रक्रिया इतिहास की बहसों से गहरे रची-बसी है।   आगे...

 

1234Last ›   282 पुस्तकें हैं|