Hindi Books on "Criticism" at Pustak.org
लोगों की राय

आलोचना

दलित साहित्य के प्रतिमान

एन. सिंह डॉ.

मूल्य: Rs. 495

दलित साहित्य के प्रतिमान   आगे...

मीडिया और लोकतन्त्र

रवीन्द्रनाथ मिश्र

मूल्य: Rs. 250

मीडिया और लोकतन्त्र   आगे...

निराला के काव्य में लोकतत्त्व

उर्मिला बी. शर्मा

मूल्य: Rs. 450

निराला के काव्य में लोकतत्त्व   आगे...

विधाओं का विन्यास

अनंत विजय

मूल्य: Rs. 375

विधाओं का विन्यास   आगे...

प्राचीन भारत में सामाजिक परिवर्तन

राघवेन्द्र पांथरी

मूल्य: Rs. 595

प्राचीन भारत में सामाजिक परिवर्तन   आगे...

धर्म और साम्प्रदायिकता

असग़र अली इंजीनियर

मूल्य: Rs. 695

धर्म और साम्प्रदायिकता   आगे...

सीढ़ियाँ शुरू हो गयी हैं

अशोक वाजपेयी

मूल्य: Rs. 300

सीढ़ियाँ शुरू हो गयी हैं   आगे...

सौंदर्य का तात्पर्य

प्रभाकर श्रोत्रिय

मूल्य: Rs. 200

सौंदर्य का तात्पर्य   आगे...

पुरानी राजस्थानी

नामवर सिंह

मूल्य: Rs. 350

पुरानी राजस्थानी   आगे...

नजीर अकबराबादी और उनकी विचारधारा

अब्दुल अलीम

मूल्य: Rs. 175

नजीर अकबराबादी और उनकी विचारधारा   आगे...

नयी सदी का पंचतंत्र

उदय प्रकाश

मूल्य: Rs. 500

नयी सदी का पंचतंत्र   आगे...

मराठी साहित्य: परिदृश्य

चन्द्रकान्त वांदिवडेकर

मूल्य: Rs. 950

मराठी साहित्य: परिदृश्य   आगे...

मीरा का काव्य

विश्वनाथ त्रिपाठी

मूल्य: Rs. 200

मीरा का काव्य   आगे...

मार्क्सवाद और साहित्य

शिव कुमार मिश्र

मूल्य: Rs. 295

मार्क्सवाद और साहित्य   आगे...

मैला आँचल की रचना-प्रक्रिया

देवेश ठाकुर

मूल्य: Rs. 150

मैला आँचल की रचना-प्रक्रिया   आगे...

इन्द्रधनुष के रंग

भगवान सिंह

मूल्य: Rs. 200

इन्द्रधनुष के रंग   आगे...

काव्यशास्त्र के मानदण्ड

राम निवास गुप्ता

मूल्य: Rs. 395

काव्यशास्त्र के मानदण्ड   आगे...

कविता के सम्मुख

गोबिन्द प्रसाद

मूल्य: Rs. 150

कविता के सम्मुख   आगे...

कला साहित्य और संस्कृति

लू-शुन

मूल्य: Rs. 295

कला साहित्य और संस्कृति   आगे...

कथा विवेचना और गद्यशिल्प

रामविलास शर्मा

मूल्य: Rs. 395

कथा औऱ कहानियों का साहित्यिक विश्लेषण   आगे...

कवि कहानीकार: अज्ञेय संवेदना और दृष्टि

भारत सिंह

मूल्य: Rs. 495

हिन्दी के प्रसिद्ध साहित्य रचयिता अज्ञेय का रचना संसार और उनकी सोच   आगे...

कहानी समकालीन चुनौतियाँ

शंभु गुप्त

मूल्य: Rs. 350

आज के समय के कथा संसार की चुनौतियाँ   आगे...

जापान के विविध रंग-राग

रीतारानी पालीवाल

मूल्य: Rs. 350

जापान की सभ्यता के रंग   आगे...

हिंदी कहानी संरचना और संवेदना

साधना शाह

मूल्य: Rs. 200

हिन्दी कहानियाँ कैसे बनती है, उनमें निहित संवेदनाएँ   आगे...

हिन्दी नाटक रंग शिल्प दर्शन

विकल गौतम

मूल्य: Rs. 200

हिन्दी नाटकों में रंग और विविध शिल्प   आगे...

हिन्दी साहित्य का आदिकाल

हजारी प्रसाद द्विवेदी

मूल्य: Rs. 125

हिंदी साहित्य के इतिहास की पहली सुसंगत और क्रमबद्ध व्याख्या का श्रेय अवश्य आचार्य रामचंद्र शुक्ल को जाता है, मगर उसकी कई गुम और उलझी हुई महत्त्वपूर्ण कड़ियों को खोजने और सुलझाने का यश आचार्य हजारी प्रसाद द्विवेदी का है   आगे...

हिंदी-काव्य में प्रगतिवाद और अन्य निबंध

विजय शंकर मल्ल

मूल्य: Rs. 300

बदलते समय के साथ प्रगितवाद का हिन्दी साहित्य में प्रभाव   आगे...

गांधी, आम्बेडकर, लोहिया और भारतीय इतिहास की समस्याएँ

रामविलास शर्मा

मूल्य: Rs. 995

भारतीय इतिहास पर गाँधीजी, अम्बेडकरजी और लोहियाजी का प्रभाव   आगे...

छायावाद का रचनालोक

रामदरश मिश्र

मूल्य: Rs. 250

छायावाद के प्रयोग पर आधारित कृतियाँ   आगे...

दादू जीवन दर्शन

बलदेव वंशी

मूल्य: Rs. 95

संत दादू की जीवन कथा   आगे...

बडे़ भाई

रामविलास शर्मा

मूल्य: Rs. 325

‘बड़े भाई’ ने अपने जीवन संघर्ष, पारिवारिक परिस्थिति, यात्रा विवरण और बातचीत के द्वारा मध्य वर्ग के जटिल संसार को रेखांकित किया है   आगे...

अज्ञेय: एक अध्ययन

भोलाभाई पटेल

मूल्य: Rs. 600

अज्ञेय के कृतित्व पर एक शोध   आगे...

भारतीय भक्ति-साहित्य

राजमल बोरा

मूल्य: Rs. 250

भक्ति साहित्य की परम्परा   आगे...

आदिवासी स्वर और नयी शताब्दी

रमणिका गुप्ता

मूल्य: Rs. 600

आदिवासियों के समर्थन में   आगे...

आदिवासियों की पारम्परिक स्वशासन व्यवस्था एवं पंचायती राज

सं. सुधीर पाल, रणेन्द्र

मूल्य: Rs. 300

झारखण्ड में परम्परागत स्वशासन की परम्परा   आगे...

आचार्य रामचन्द्र शुक्ल: प्रस्थान और परम्परा

राममूर्ति त्रिपाठी

मूल्य: Rs. 495

आचार्य रामचन्द्र शुक्ल के साहित्य का आरंभ और उनके काल में स्थापित परंपराएँ   आगे...

अपनी उनकी बात

उदय प्रकाश

मूल्य: Rs. 295

कविता, उसका कृतित्व और साहित्य में कविता की वर्तमान अवस्था   आगे...

हिन्दी साहित्य का इतिहास

आचार्य रामचंद्र शुक्ल

मूल्य: Rs. 600

हिन्दी साहित्य के इतिहास पर लिखी गई चर्चित पुस्तक   आगे...

हिन्दी साहित्य का इतिहास और उसकी समस्याएँ

योगेन्द्र प्रताप सिंह

मूल्य: Rs. 250

हिन्दी साहित्य का इतिहास कई उतार-चढ़ावों से गुजरा है   आगे...

दलित दृष्टि

गेल ओमवेट

मूल्य: Rs. 250

दलित दृष्टि में समाज   आगे...

ज़माने से दो दो हाथ

नामवर सिंह

मूल्य: Rs. 250

प्रस्तुत संग्रह में नामवर जी के गत दो दशकों में दिये गए अनेक व्याख्यानों एवं वाचिक टिप्पणियों के साथ दो आलेख शामिल हैं   आगे...

वंचितों के कथाकार

सोमा वंद्योपाध्याय

मूल्य: Rs. 450

हिंदी एवं बंगला के दो प्रमुख कथा-साहित्यकार फनीश्वरनाथ रेणु एवं ताराशंकर बंधोपाध्याय जो आंचलिक उपन्यासकार के रूप में भी ख्याति प्राप्त कर चुके हैं, इनके साहित्य का तुलनात्मक अध्ययन कर हिंदी व बांग्ला के पाठकों को प्रोत्साहित करना ही मेरा मुख्य ध्येय है।   आगे...

उर्दू का आरम्भिक युग

शमसुर्रहमान फारूकी

मूल्य: Rs. 175

उम्मीद है कि हिन्दी के पाठकों को यह पुस्तक बेहद उपयोगी और सूचनापरक लगेगी।   आगे...

उपन्यास की संरचना

गोपाल राय

मूल्य: Rs. 650

हिंदी में उपन्यास की संरचना के विवेचन का यह पहला गंभीर प्रयास है।   आगे...

तुलनात्मक साहित्य सैद्धांतिक परिप्रेक्ष्य

हनुमान प्रसाद शुक्ल

मूल्य: Rs. 550

तुलनात्मक साहित्य अध्ययन को लेकर सबसे बड़ी भ्रान्ति तुलनीय साहित्यों की भाषाओँ की विशेषज्ञता को लेकर है   आगे...

तीन सौ रामायणें एवं अन्य निबंध

संजीव कुमार

मूल्य: Rs. 250

पुस्तक की भूमिका के अनुसार, ‘जिन्होंने भी रामानुजन के आलेख को पढ़ा है, उन्होंने महसूस किया है कि यह शोध और विश्लेषण की गहराई का कितना नायाब नमूना है।   आगे...

सूरीनाम हिंदी परिषद का इतिहास

पुष्पिता

मूल्य: Rs. 500

गत पच्चीस वर्षों में सूरीनाम हिन्दी परिषद की अहम भूमिका है जिसने नीदरलैंड में बस रहे सूरीनामी भारतवंशियों के भीतर भी हिन्दी भाषा और हिन्दुस्तानी संस्कृति के संस्कार बसाए।   आगे...

सूर साहित्य

हजारी प्रसाद द्विवेदी

मूल्य: Rs. 350

श्री हजारीप्रसाद भक्ति-तत्त्व, प्रेम-तत्त्व, राधाकृष्ण-मतवाद आदि के सबंध में जो भी उल्लेख-योग्य, जहाँ कहीं से पा सके हैं, उसे उन्होंने इस ग्रथ में संग्रह किया है   आगे...

श्रीलाल शुक्ल की दुनिया

सं. अखिलेश

मूल्य: Rs. 350

प्रसिद्ध युवा कथाकार अखिलेश द्वारा सम्पादित यह कृति श्रीलाल शुक्ल के व्यक्तित्व और सृजन के अध्ययन की विभिन्न विचारोत्तेजक छवियाँ प्रस्तुत करती है।   आगे...

शब्द परस्पर

निरंजन देव शर्मा

मूल्य: Rs. 350

कृष्णा सोबती के समग्र रचनात्मक अवदान पर केन्द्रित मुकम्मल किताब, बल्कि किताबों की जरूरत बनी हुई है, निरंजन देव की ‘शब्द परस्पर’ इस जरूरत को पूरी करने की दिशा में महत्त्वपूर्ण कदम है।   आगे...

सौन्दर्यशास्त्र के तत्व

कुमार विमल

मूल्य: Rs. 600

इस पुस्तक में सौंदर्यशास्त्र को व्यावहारिक आलोचना के धरातल पर उतारा गया है   आगे...

समकालीनता और साहित्य

राजेश जोशी

मूल्य: Rs. 600

आलोचना से यह उम्मीद तब तक निरर्थक ही होगी जब तक कि कवि स्वयं इस दृश्य के मूल्यांकन की कोशिश नहीं करेंगे। यही हालत गद्य की भी हे, विशेष रूप से कहानी और उपन्यास की।   आगे...

समकालीन काव्य यात्रा

नन्दकिशोर नवल

मूल्य: Rs. 550

प्रस्तुत पुस्तक में हिंदी के सुपरिचित आलोचक डॉ. नंदकिशोर नवल ने विजयदेव नारायण साही से लेकर धूमिल तक की कविता का गहन, विशद और वस्तुपरक अध्ययन कर यह सिद्ध कर दिया है कि आधुनिक हिंदी कविता न केवल निरंतर गतिशील है, बल्कि वह विकासशील भी है।   आगे...

सफदर: व्यक्तित्व और कृतित्व

सफदर हाशमी

मूल्य: Rs. 250

‘जन नाट्य मंच’ के संस्थापक सदस्य और सुविख्यात युवा रंगकर्मी सफ़दर हाशमी की स्मृति से जुड़ी यह पुस्तक साहित्य और संस्कृति के क्षेत्र में एक अलग तरह का महत्त्व रखती है।   आगे...

सात भूमिकाएँ

महादेवी वर्मा

मूल्य: Rs. 350

अपनी विशिष्ट ‘तर्कसंगत पद्धति’ से दूधनाथ सिंह ने महादेवी के रचनाकर्म को विवेचित किया है।   आगे...

रेणु का है अन्दाजे बयां और

भारत यायावर

मूल्य: Rs. 300

रेणु के अंदाज़े-बयाँ को अपने ही ढंग से प्रस्तुत करने वाली यह अनोखी पुस्तक है।   आगे...

राग दरबारी आलोचना की फाँस

रेखा अवस्थी

मूल्य: Rs. 600

राग दरबारी पर यह पहली आलोचना पुस्तक है   आगे...

प्रेमचंद एक तलाश

श्रीराम त्रिपाठी

मूल्य: Rs. 450

आलोचक श्रीराम त्रिपाठी ने वस्तुतः हिन्दी और उर्दू में समानरूपेण समादृत अमर कथाशिल्पी मुंशी प्रेमचन्द को उनकी रचनाओं में तलाश किया है।   आगे...

प्रेमचंद और उनका युग

रामविलास शर्मा

मूल्य: Rs. 700

इस पुस्तक में विद्वान लेखक ने प्रेमचंद की कृतियों का मूल्यांकन ऐतिहासिक सन्दर्भ और सामाजिक परिवेश की पृष्ठभूमि में किया है।   आगे...

प्रेमचंद और भारतीय समाज

नामवर सिंह

मूल्य: Rs. 250

आधुनिक रचनाकारों में इकलौते प्रेमचन्द ही हैं जिनमें हिन्दी के शीर्ष स्थानीय मार्क्सवादी आलोचक प्रो. नामवर सिंह की दिलचस्पी निरन्तर बनी रही है। प्रेमचन्द पर विभिन्न अवसरों पर दिये गए व्याख्यान एवं उन पर लिखे गए आलेख इस पुस्तक में एक साथ प्रस्तुत हैं।   आगे...

प्रेमचंद: विगत महत्ता और वर्तमान अर्थवत्ता

मुरली मनोहर प्रसाद सिंह

मूल्य: Rs. 600

दस्तावेज़ी महत्त्व के साथ-साथ यह पुस्तक प्रेमचन्द के पाठकों के लिए भी बहुत उपयोगी सिद्ध होगी।   आगे...

प्रेमचंद: एक साहित्यिक विवेचन

नंददुलारे वाजपेयी

मूल्य: Rs. 250

महान कथाकार प्रेमचंद के संपूर्ण कथा–साहित्य को उसकी सभी विशेषताओं और विफलताओं के साथ विश्लेषित करने का प्रयास यहाँ लेखक ने किया है।   आगे...

प्राचीन भारत के कलामक विनोद

हजारी प्रसाद द्विवेदी

मूल्य: Rs. 400

इसमें लेखक ने गुप्तकाल के कुछ सौ वर्ष पूर्व से लेकर कुछ सौ वर्ष बाद तक के साहित्य का अवगाहन करते हुए उस काल के भारतवासियों के उन कलात्मक विनोदों का वर्णन किया है जिन्हें जीने की कला कहा जा सकता है।   आगे...

फिलहाल

अशोक वाजपेयी

मूल्य: Rs. 250

कविता को फिर जीवित तात्कालिकता देने के लिए और काव्य-भाषा को, जो बिंबों में फँसकर गतिहीन और जड़ हो चुकी थी; ताजगी और जीवंतता देने के लिए, युवा कवियों ने अगर सपाटबयानी की ओर रुख किया तो यह स्वाभाविक और जरूरी ही था।   आगे...

निराला की साहित्य साधना: खंड -1-3

रामविलास शर्मा

मूल्य: Rs. 2985

निराला के व्यक्तित्व के जटिल और सूक्ष्म अन्तर्विरोधों से निःसृत कृतित्व का इस पुस्तक में मर्मस्पर्शी मूल्यांकन हुआ है जो अत्यन्त दुर्लभ तो है ही, बेमिसाल भी है।   आगे...

निराला काव्य की छवियाँ

नन्दकिशोर नवल

मूल्य: Rs. 350

निराला-काव्य के अध्येता डॉ. नंदकिशोर नवल ने, जो निराला रचनावली के संपादक भी हैं; प्रस्तुत पुस्तक में निस्संदेह निराला के काव्य-लोक की बहुत ही भव्य फलक दिखलाई है।   आगे...

निज ब्रह्म विचार

पुरुषोत्तम अग्रवाल

मूल्य: Rs. 150

सैद्धान्तिक प्रश्नों से जूझने से लेकर अटलांटा, वर्धा और गोपेश्वर के अनुभव-संवेदनों को पाठकों के सामने प्रस्तुत करने तक के रूप में ये लेख लगातार उत्सुकता के साथ पढ़े गए।   आगे...

मुक्तिबोध: ज्ञान और संवेदना

नन्दकिशोर नवल

मूल्य: Rs. 600

दूसरे शब्दों में मुक्तिबोध पर यह पहली मुकम्मल किताब है।   आगे...

मीरा और मीरा

महादेवी वर्मा

मूल्य: Rs. 150

महादेवी वर्मा के मीरा विषयक व्याख्यान   आगे...

महापुरुषों का स्मरण

हजारी प्रसाद द्विवेदी

मूल्य: Rs. 175

कहना न होगा कि प्राचीन तथा समकालीन महापुरुषों को समझने में यह पुस्तक एक महत्त्वपूर्ण दस्तावेज़ का कार्य करेगी।   आगे...

महादेवी

दूधनाथ सिंह

मूल्य: Rs. 600

यह किताब महादेवी की लिखत-पढ़त, उनके चित्रों-रेखांकनों, उनके जीवन-वृत्त और उनके बारे में लेखक की संस्कृतियों के भीतर से उनको समझने की एक निजी कोशिश है।   आगे...

मध्यकालीन बोध का स्वरूप

हजारी प्रसाद द्विवेदी

मूल्य: Rs. 300

प्रस्तुत पुस्तक में आचार्य द्विवेदी के पाँच व्याख्यान संकलित हैं, जो उन्होंने टैगोर प्रोफेसर के नाते पंजाब विश्वविद्यालय में दिए थे।   आगे...

कुछ पूर्वग्रह

अशोक वाजपेयी

मूल्य: Rs. 295

पिछले वर्षो में हिंदी आलोचना में जो नाम छाए रहे हैं उनमे एक नाम निश्चय ही अशोक वाजपेयी का है कविता के लिए उनका पूर्वग्रह अब कुख्यात ही है।   आगे...

कुछ कहानियाँ: कुछ विचार

विश्वनाथ त्रिपाठी

मूल्य: Rs. 300

इतना कहना लेकिन जरूरी लगता है कि कुछ स्वातंत्रयोत्तर हिंदी कहानियों पर लिखी ये समीक्षाएँ पढने के बाद वे कहानियां फिर-फिर पढने को जी करता है।   आगे...

कविता के नये प्रतिमान

नामवर सिंह

मूल्य: Rs. 450

कविता के नए प्रतिमान में समकालीन हिंदी आलोचना के अंतर्गत व्याप्त मूल्यांध वातावरण का विश्लेषण करते हुए उन काव्यमूल्यों को रेखांकित करने का प्रयास किया गया है जो आज की स्थिति के लिए प्रासंगिक हैं।   आगे...

कविता के आर पार

नन्दकिशोर नवल

मूल्य: Rs. 350

इस तरह की पुस्तक हिंदी काव्य-प्रेमियों के लिए एक जरूरी पुस्तक है, जो उनकी आस्वादन क्षमता को विकसित करेगी।   आगे...

कथाकार कमलेश्वर और हिंदी सिनेमा

उज्ज्वल अग्रवाल

मूल्य: Rs. 450

प्रस्तुत शोध-प्रबंध कमलेश्वर के हिन्दी सिनेमा में विराट योगदान को रेखांकित करता है।   आगे...

कथा समय में तीन हमसफर

निर्मला जैन

मूल्य: Rs. 195

नई कहानी दौर की एक विशिष्ट कथा–त्रयी की रचनात्मकता पर एक मानक कलम से उतरी अनूठी आलोचना कृति।   आगे...

कार्ल मार्क्स: कला और साहित्य चिंतन

नामवर सिंह

मूल्य: Rs. 400

प्रस्तुत पुस्तक में संकलित लेखों को पढ़कर पाठक साहित्य और कला से संबंधित इन सभी मुद्दों से परिचित हो सकेगा।   आगे...

कामायनी एक पुनर्विचार

गजानन माधव मुक्तिबोध

मूल्य: Rs. 350

कामायनी : एक पुनर्विचार, व्यावहारिक समीक्षा के क्ष्रेत्र में एक सर्वथा नवीन विवेचन-विश्लेषण-पद्धति का प्रतिमान है।   आगे...

कल्पलता

हजारी प्रसाद द्विवेदी

मूल्य: Rs. 175

निश्चय ही द्विवेदी जी की यह कृति शास्त्र को लोक से जोड़नेवाली उनकी विदग्ध रचनात्मकता का अप्रतिम साक्ष्य है।   आगे...

जो बचा रहा

नन्द चतुर्वेदी

मूल्य: Rs. 400

प्रस्तुत पुस्तक संस्मरण और आलोचना के मिश्रण से बने लेखों का संग्रह है।   आगे...

जीने का उदात्त आशय

पंकज चतुर्वेदी

मूल्य: Rs. 600

लेखक ने इस पुस्तक के पहले निबंध में कुअंर नारायण के विचारों और उनकी समग्र काव्य-यात्रा से चुनी हुई कविताओं के विश्लेषण के जरिए उनकी काव्य-दृष्टि को समझने और उसका एक स्वरुप निर्मित करने की चेष्टा की है।   आगे...

जब प्रश्नचिन्ह बौखला उठे

गजानन माधव मुक्तिबोध

मूल्य: Rs. 195

इस संग्रह में ‘मुक्तिबोध रचनावली’ के प्रकाशन के बाद प्राप्त उनके राजनीतिक निबन्धों को संकलित किया गया है।   आगे...

हिंदी वेब साहित्य

सुनील कुमार लवटे

मूल्य: Rs. 600

हिंदी भाषा और साहित्य की विभिन्न वेबसाइट्‌स पर प्रकाशित साहित्य का यह पहला व्यवस्थित अनुसंधान है ।   आगे...

हिंदी उपन्यास का इतिहास

गोपाल राय

मूल्य: Rs. 950

कोशिश यह की गई है कि यह पुस्तक हिन्दी उपन्यास का मात्र ‘इतिहास’ न बनकर ‘विकासात्मक इतिहास’ बने।   आगे...

हिंदी उपन्यास: एक अंतर्यात्रा

राम दरश मिश्रा

मूल्य: Rs. 450

लेखक की अन्तर्दृष्टि हिन्दी उपन्यास के संश्लिष्ट व्यक्तित्व और उसकी चेतना-यात्रा को पहचानने में सफल हुई है।   आगे...

हिंदी की साहित्यिक संस्कृति और भारतीय आधुनिकता

राजकुमार

मूल्य: Rs. 400

यह पुस्तक गांधी और मार्क्स का एक नया भाष्य ही नहीं प्रस्तुत करती, बल्कि भारतीय आधुनिकता की विलक्षणताओं को भी रेखांकित करने का उपक्रम करती है।   आगे...

हिंदी कविता अभी बिल्कुल अभी

नन्दकिशोर नवल

मूल्य: Rs. 500

संवेदनशीलता के साथ स्पष्टता और आत्मीयता डॉ– नवल की ऐसी विशेषताएँ हैं, जिन्हें सराहते ही बनता है।   आगे...

हिंदी कहानी का इतिहास: खंड-3, (1976-2000)

गोपाल राय

मूल्य: Rs. 695

हिन्दी कहानी के विकासेतिहास में रुचि रखने वाले पाठकों, शोधार्थियों व लेखकों के लिए समान रूप से महत्त्वपूर्ण कृति।   आगे...

हिंदी कहानी का इतिहास: खंड-2, (1951-1975)

गोपाल राय

मूल्य: Rs. 795

यह किताब हिन्दी कहानी का इतिहास का दूसरा खंड है। पहले खंड में 1900-1950 अवधि की हिन्दी कहानी का इतिहास प्रस्तुत किया गया था।   आगे...

हिंदी का गद्यपर्व

नामवर सिंह

मूल्य: Rs. 395

इस पुस्तक में अलग-अलग अवसरों पर लिखी गई पाँच समीक्षाएँ भी मौजूद हैं।   आगे...

हिंदी आलोचना में कैनन निर्माण की प्रक्रिया

मृत्युंजय

मूल्य: Rs. 500

बकौल लेखक, ''मैंने पाया कि हिन्दी आलोचना में कैनन-निर्माण की प्रक्रिया इतिहास की बहसों से गहरे रची-बसी है।   आगे...

हिंदी आलोचना का विकास

नन्दकिशोर नवल

मूल्य: Rs. 795

इस पुस्तक में उन्होंने हिन्दी आलोचना के इतिहास को नहीं, विकास को स्पष्ट किया है।   आगे...

हिंदी आलोचना का दूसरा पथ

निर्मला जैन

मूल्य: Rs. 400

आज आवश्यकता हिन्दी आलोचना के इतिहास को उसके समुचित परिदृश्य में रखने की ही है।   आगे...

हिंदी आलोचना

विश्वनाथ त्रिपाठी

मूल्य: Rs. 450

कृति की राह से गुजरना उचित है, लेकिन कृति को देखने की दृष्टि प्राप्त करके।   आगे...

एक कवि की नोट बुक

राजेश जोशी

मूल्य: Rs. 250

यह एक कवि की नोटबुक है। इसलिए उसमें व्यवस्था कम, बहक ज्यादा है।   आगे...

दिनकर अर्धनारीश्वर कवि

नन्दकिशोर नवल

मूल्य: Rs. 350

दिनकर आधुनिक हिंदी कविता के उत्तर–छायावादी वा नवस्वच्छंदतावादी दौर के सर्वश्रेष्ठ कवि थे।   आगे...

कोलाज: अशोक वाजपेयी

पुरुषोत्तम अग्रवाल

मूल्य: Rs. 600

अशोक वाजपेयी की कविताओं से गुजरते हुए यह एहसास बहुत शिद्दत से होता है कि हम ऐसे कवि से मुखातिब हैं जिसके यहाँ लौकिक और लोकोत्तर संवादरत हैं   आगे...

छत्तीसगढ़ में मुक्तिबोध

राजेंद्र मिश्र

मूल्य: Rs. 550

छत्तीसगढ़ मुक्तिबोध की परिपक्व सर्जनात्मकता का अन्तरंग है।   आगे...

भारतीय साहित्य स्थापनाएं और प्रस्तावनाएं

के. सच्चिदानंदन

मूल्य: Rs. 250

भारतीय साहित्य भारत के जनगण की ही तरह विविधता और एकता के परस्पर सूत्रों से बुनी हुई एक सघन इकाई है   आगे...

भारतीय काव्यशास्त्र के नई क्षितिज

राममूर्ति त्रिपाठी

मूल्य: Rs. 500

परंपरा कोई विच्छिन्न क्रम नहीं है। उसका स्वाभाविक विकास निरंतर होता रहता है।   आगे...

भारतेंदु हरिश्चंद्र और हिंदी नवजागरण की समस्याएं

रामविलास शर्मा

मूल्य: Rs. 450

वास्तव में भारतेन्दु साहित्य सम्बन्धी सभी पक्षों की प्रामाणिक जानकारी के लिए यह अकेली पुस्तक पर्याप्त है।   आगे...

भारतेंदु युग और हिंदी भाषा की विकास परम्परा

रामविलास शर्मा

मूल्य: Rs. 795

भारतेंदु युग हिंदी साहित्य का सबसे जीवंत युग रहा है।जिसमें उनकी राष्ट्रीय और जनवादी दृष्टि का उन्मेष है।   आगे...

अकबर इलाहाबादी पर एक और नज़र

शमसुर्रहमान फारूकी

मूल्य: Rs. 200

उर्दू के विख्यात आलोचक, उपन्यासकार, कवि शम्सुर्रहमान फ़ारुक़ी के ये तीन आलेख अकबर इलाहाबादी को एक नये ढंग से देखते हैं   आगे...

विनोद कुमार शुक्ल: खिड़की के अंदर और बाहर

योगेश तिवारी

मूल्य: Rs. 300

नमें बिलकुल नए तरीके से उपन्यास की अंतर्वस्तु और अभिव्यक्ति का आलोचनात्मक अध्ययन है।   आगे...

उपन्यासों के रचना प्रसंग

कुसुम वार्ष्णेय

मूल्य: Rs. 350

निश्चय ही यह कृति पाठकों को उपयोगी और रोमांचक लगेगी।   आगे...

उपन्यासों के सरोकार

ई. विजयलक्ष्मी

मूल्य: Rs. 250

इस दौर में स्त्री, दलित और जनजातीय समाज लगातार बहस के केन्द्र में अपनी जगह बना रहे हैं...   आगे...

उपन्यास का काव्यशास्त्र

बच्चन सिंह

मूल्य: Rs. 350

मूलतः पुस्तक में सिद्धान्त बरक्स रचना का विवेचन है। विभिन्न उपन्यासों और कहानियों को यहाँ पर एक दृष्टिकोण से विवेचित किया गया है। प्रबुद्ध पाठक इससे टकरा भी सकते हैं और इसे आगे भी बढ़ा सकते हैं।   आगे...

तुलसी काव्य मीमांसा

उदयभानु सिंह

मूल्य: Rs. 500

निःसन्देह तुलसीदास के अध्येताओं और जिज्ञासु पाठकों के लिए यह ग्रन्थ उपादेय होगा।   आगे...

तुलसी: आधुनिक वातायन से

रमेश कुंतल मेघ

मूल्य: Rs. 700

तुलसी के हरेक गम्भीर अध्येता- अनुरागी और सभी पुस्तकालयों के लिए सर्वथा अनिवार्य।   आगे...

तुलसी

सं. उदयभानु सिंह

मूल्य: Rs. 500

साहित्य मनीषी पं. हजारी प्रसाद द्विवेदी का मत है कि ''तुलसीदास के काव्य में उनका निरीह भक्त-रूप बहुत स्पष्ट हुआ है, पर वे समाज-सुधारक, लोकनायक, कवि, पंडित और भविष्य-दृष्टा भी थे।   आगे...

सूरीनाम का सृजनात्मक हिन्दी साहित्य

विमलेश कांति वर्मा, भावना सक्सेना

मूल्य: Rs. 600

भारत से हजारों मील दूर स्थित एक देश में लिखी ये रचनाएँ प्रवासी भारतीयों की संघर्ष-कथा का साहित्यिक दस्तावेज हैं जिनका ऐतिहासिक और समाजशास्त्रीय महत्त्व है।   आगे...

सूरदास

हरबंस लाल शर्मा

मूल्य: Rs. 550

सूर-साहित्य के जिज्ञासुओं, पाठकों और हिन्दी साहित्य के सभी छात्रों के लिए यह पुस्तक एक महत्त्वपूर्ण विचार-कोश की भूमिका निभाएगी।   आगे...

समकालीन हिन्दी उपन्यास: समय से साक्षात्कार

एलांगबम विजयलक्ष्मी

मूल्य: Rs. 350

समकालीन हिन्दी उपन्यास - समय से साक्षात्कार   आगे...

समकालीन हिन्दी साहित्य: विविध परिदृश्य

राम स्वरूप चतुर्वेदी

मूल्य: Rs. 250

समकालीन हिन्दी साहित्य के विविध परिदृश्यों का परिचय   आगे...

सामाजिक विमर्श के आईने में 'चाक'

सं. विजय बहादुर सिंह

मूल्य: Rs. 350

उपन्यास के शुरुआती पृष्ठों पर ही सास और गर्भवती विधवा बहू के बीच यह दृश्य खड़ा कर मैत्रेयी ने पहली बार स्त्री की निगाह से देखने की पहल की है।   आगे...

पृथ्वीराज रासो: भाषा और साहित्य

नामवर सिंह

मूल्य: Rs. 450

इस ग्रंथ में अपभ्रंशोत्तर पुरानी हिंदी के विविध भाषिक रूपों के प्रयोग प्राप्त होते हैं   आगे...

प्रेमचंद के आयाम

ए अरविंदाक्षन

मूल्य: Rs. 450

प्रेमचन्द की विपुल सम्भावनाओं को दृष्टि में रखकर ही इस ग्रंथ का शीर्षक ‘प्रेमचन्द के आयाम’ रखा गया है   आगे...

पाश्चात्य साहित्य चिंतन

सं. निर्मला जैन, कुसुम भंथिया

मूल्य: Rs. 450

सभी महत्वपूर्ण विचारकों और प्रवृत्तियों का प्रमाणिक विवेचन इस रचना की विशेषता है   आगे...

पाश्चात्य काव्य चिंतन

करुणाशंकर उपाध्याय

मूल्य: Rs. 595

पाश्चात्य मनीषा ने काव्य-चिंतन के क्षेत्र में सदैव प्रयोग किए हैं और   आगे...

निराला और मुक्तिबोध: चार लम्बी कविताएं

नंदकिशोर नवल

मूल्य: Rs. 350

नवल ने बड़ी सूक्ष्मता से चारों लंबी कविताओं के शिल्पगत वैशिष्टय को उद्‌घाटित करते हुए उनकी उस अंतर्वस्तु पर प्रकाश डाला है   आगे...

मुक्तिबोध की समीक्षाई

अशोक चक्रधर

मूल्य: Rs. 395

मुक्तिबोध की कविताई में जाने से पहले उनकी समीक्षाई जानना ज़रूरी है। ज़रूरी नहीं बहुत ज़रूरी है।   आगे...

मुक्तिबोध की कविताई

अशोक चक्रधर

मूल्य: Rs. 350

अशोक चक्रधर मुक्तिबोध की कविताओं पर कार्य करने वाले प्रारंभिक लेखकों में गिने जाते हैं   आगे...

मुक्तिबोध: कविता और जीवन विवेक

चंद्रकांत देवतले

मूल्य: Rs. 350

पुस्तक का उद्‌देश्य मुक्तिबोध के लगभग मिथक बन चुके जीवन और व्यक्तित्व को खोलना नहीं, बल्कि समझना है   आगे...

मिथक और स्वप्न

रमेश कुंतल मेघ

मूल्य: Rs. 300

यह लिरिकल मुक्तकों के कदम्बवाला एक ‘गीत-कामायनीयम्’ है   आगे...

मेरे समय के शब्द

केदारनाथ सिंह

मूल्य: Rs. 550

पुस्तक शब्द की समकालीन सक्रियता में निहित संवेदना और विवेक को भलीभांति प्रकाशित करती है   आगे...

मेघदूत: एक अंतर्यात्रा

प्रभाकर श्रोत्रिय

मूल्य: Rs. 150

इस कृति में कालिदास की रचनात्मकता शिखर पर है   आगे...

मध्ययुग रास दर्शन और समकालीन सौन्दर्यबोध

रमेश कुंतल मेघ

मूल्य: Rs. 750

पुस्तक मध्यकालीन अवधारणाओं तथा आधुनिक समाज-वैज्ञानिक पूर्वानुमानों वाली भाषाओं के द्वन्द्व एवं दुविधा को भी प्रकट करती है   आगे...

लोकवादी तुलसीदास

विश्वनाथ त्रिपाठी

मूल्य: Rs. 350

तुलसी की कविता भक्ति का प्रचार करती है, इसलिए वह इतनी लोकप्रिय और प्रचलित है   आगे...

कुवेम्पु साहित्य: विविध आयाम

सं. रामप्रकाश

मूल्य: Rs. 200

कन्नड़ भाषा के प्रथम ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित ‘कन्नड़ कविरत्न’ के व्यक्तित्व एवं कृतित्व के विविध पक्षों पर विद्वत्तापूर्ण व्यापक अध्ययन   आगे...

कविता का जनपद

अशोक वाजपेयी

मूल्य: Rs. 600

हमारी कविता में जीवन, अनुभव और भाषा को समझने और विन्यस्त करने के अनेक स्तर और प्रक्रियाएँ हैं   आगे...

कविता का गल्प

अशोक वाजपेयी

मूल्य: Rs. 400

कविता और कवियों पर उनका यह नया निबंध-संग्रह ताजगी और उल्लाह भरा दस्तावेज है   आगे...

कहानी वस्तु और अंतर्वस्तु

शंभु गुप्त

मूल्य: Rs. 350

हिन्दी में कहानी-आलोचना पर्याप्त समृद्ध और बहुआयामी होते हुए भी आलोचना की मुख्यधारा में अनादृत ही रही है   आगे...

हिन्दी साहित्य का इतिहास पुनर्लेखन की आवश्यकता

पुखराज मारू

मूल्य: Rs. 450

साहित्य समाज का दर्पण है।'   आगे...

हिन्दी साहित्य का दूसरा इतिहास

बच्चन सिंह

मूल्य: Rs. 895

यह ग्रन्थ इतिहास की धारावाहिक निरंतरता के साथ ही हिंदी, के प्रमुख साहित्यकारों और साहित्यिक कृतियों का मौलिक दृष्टि से मूल्याङ्कन प्रस्तुत करता है   आगे...

हिन्दी गद्य लेखन में व्यंग्य और विचार

सुरेश कांत

मूल्य: Rs. 600

वैचारिकता से दिशा प्राप्त कर मानवता के हित में व्यंग्य का उत्तरोत्तर उत्कर्ष सुनिश्चित करना आज व्यंग्यकारों का सबसे बड़ा कर्तव्य भी है और उनके समक्ष गंभीर चुनौती भी - यही इस शोध का निष्कर्ष है   आगे...

धूमिल की कविता में विरोध और संघर्ष

नीलम सिंह

मूल्य: Rs. 300

है। संसद एवं राजनीति के बदलते परिदृश्य में धूमिल की कविता पर आलोचना की यह किताब धूमिल के माध्यम से अपने दौर की समीक्षा है।   आगे...

भारतीय साहित्य

मूलचन्द गौतम

मूल्य: Rs. 550

पुस्तक में जातीयता के निर्माण के कारकों, घटकों एवं उपकरणों एवं भारतीय साहित्य के इतिहास की समस्याओं के साथ उसकी तलाश में किए गए प्रयासों का संकेत है   आगे...

अन्तस्तल का पूरा विप्लव: अंधेरे में

निर्मला जैन

मूल्य: Rs. 125

  आगे...

आलोचना से आगे

सुधीश पचौरी

मूल्य: Rs. 400

सुधीश पचौरी ने उत्तर-आधुनिकतावादी और उत्तर-संरचनावादी विमर्शों को हिंदी में स्थापित किया है   आगे...

आधुनिक कविता का पुनर्पाठ

करुणाशंकर उपाध्याय

मूल्य: Rs. 500

छात्रों, मनीषियों, चिन्तकों तथा सामान्य पाठकों के लिए समान रूप से उपयोगी यह पुस्तक आधुनिक काव्य पर विशिष्ट अध्ययन होने के साथ-साथ नवीन समीक्षात्मक प्रतिमानों के संधान द्वारा उसका पुनर्पाठ तैयार करने का एक गम्भीर और साहसिक प्रयास है।   आगे...

आधुनिक हिन्दी काव्यालोचना के सौ वर्ष

पुष्पिता अवस्थी

मूल्य: Rs. 350

  आगे...

आद्यबिम्ब और गोदान

कृष्णमुरारि मिश्र

मूल्य: Rs. 125

लेखक ने मुख्यत' कथानक, उद्देश्य एवं भाषा के बिम्बत्‍व क्त गभीर विवेचन किया है   आगे...

उत्तर आध्यात्मिकता : बहूआयामी सन्दर्भ

पाण्डेय शशिभूषण 'शितान्शु'

मूल्य: Rs. 350

ह पुस्तक पहली बार 18 उत्तर-आधुनिक चिन्तकों, सर्जकों, कलाकारों और उनकी मान्यताओं से आपको परिचित कराती है   आगे...

उत्तर आध्यात्मिक और समकालीन कथा-साहित्य

लक्ष्मी गौतम

मूल्य: Rs. 500

यह पुस्तक 'उत्तर आधुनिकता व समकालीनता बोध' को भारतीय सन्दर्भ में प्रस्तुत करने का मौलिक प्रयास है   आगे...

तुलसी के रचना सामर्थ्य की विवेचना

योगेन्द्र प्रताप सिंह

मूल्य: Rs. 80

तुलसी की कृतियों में उनके आत्मानुभव एवं रचना दृष्टि के विकास का एक मानवीय सूत्र निश्चित रूप से परिलक्षित होता है   आगे...

तुलसी काव्य में साहित्यिक अभिप्राय

जनार्दन उपाध्याय

मूल्य: Rs. 300

प्रस्तुत अध्ययन का मन्तव्य इसी संदर्भ को स्पष्ट करना रहा है कि तुलसी जैसे श्रेष्ठ आध्यात्मिक कवि की कविता भी भारतीय कविता की कलात्मक परम्परा से पूरी तरह जुड़ी है   आगे...

सूरदास

ब्रजेश्वर वर्मा

मूल्य: Rs. 450

सूरदास के जीवन और कृतित्व संबंधी जो स्थापनाएं प्रो० वर्मा ने इस गंथ में प्रतिपादित की है उनकी प्रामाणिकता आज भी अक्षुण्ण है   आगे...

श्रीरामशरण गुप्त : रचना एवं चिन्तन

ललित शुक्ल

मूल्य: Rs. 300

शोध छात्रों, विद्वानों और विचारकों के लिए सियारामशरण पर लिखे गए लेखों का, यह संकलन निश्चय ही महत्वपूर्ण होगा   आगे...

शायर दानिशवर फ़िराक गोरखपुरी

अली अहमद फातिमी

मूल्य: Rs. 250

यह किताब एक नये फिराक को समझने में सहायक बनती है   आगे...

शब्द-पुरुष अज्ञेय

श्रीनरेश मेहता

मूल्य: Rs. 150

यह आलेख, श्रीनरेश मेहता के लेखन और व्यक्ति का आकलन नहीं बल्कि स्मरण है   आगे...

सर्जनात्मक काव्यालोचन

पाण्डेय शशिभूषण 'शितान्शु'

मूल्य: Rs. 550

हिन्दी आलोचना में कविता के पाठकों और आलोचकों को संवेदन-समृद्ध करने वाली एक अत्यन्त उपयोगी एवं पठनीय पुस्तक   आगे...

सर्जन और रसास्वादन

योगेन्द्र प्रताप सिंह

मूल्य: Rs. 295

इस कृति का मूल मन्तव्य है, आज की निषेधवादी विचारधाराओं का खण्डन करते हुए इसकी सामयिक प्रासंगिकता का विश्लेषण   आगे...

समकालीन हिन्दी कविता

विश्वनाथ प्रसाद तिवारी

मूल्य: Rs. 295

समकालीनता एक जीवन-दृष्टि है जहाँ कविता अपने समय का आकलन करती है - तर्क और संवेदना की सम्मिलित भूमि पर   आगे...

समकालीन हिन्दी कहानियाँ : अन्तरंग परिचय

सी.एम. योहन्नान

मूल्य: Rs. 400

प्रस्तुत पुस्तक इक्कीसवीं शताब्दी के प्रथम दशक की कहानियों पर विस्तृत तथा सारगर्भित आलोचनात्मक टिप्पणी है   आगे...

समकालीन कविता के आयाम

पी. रवि

मूल्य: Rs. 350

समकालीन सोच एक ओर समग्रतावादी रुख ग्रहण कर सामाजिक परिवर्तन की बातों पर अपना ध्यान केन्द्रित रखती हैं तो दूसरी ओर वह व्यक्तिवादी-अस्तित्ववादी न होकर व्यक्ति की अस्मिता के प्रति पूरी तरह सजग रहती हैं   आगे...

साहित्य-सहचर

हजारी प्रसाद द्विवेदी

मूल्य: Rs. 200

प्रस्‍तुत पुस्तक में साहित्यिक श्रेणी की पुस्तकों के अध्ययन करने का तरीका बताना ही आचार्य द्विवेदी जी का संकल्प है   आगे...

राष्ट्रकवि गोविंद पै : व्यक्तित्व और क्रृतित्व

एच. एम. कुमारस्वामी

मूल्य: Rs. 80

राष्ट्रकवि गोविंद पै का व्यक्तित्व और क्रृतित्व   आगे...

रस सिद्धान्त का पुनर्विवेचन

गणपतिचन्द्र गुप्त

मूल्य: Rs. 450

रस-सिद्धान्त भारतीय चिन्तन की लगभग दो सहस्राब्दियों की साधना की देन है   आगे...

राग दरबारी का महत्व

मधुरेश

मूल्य: Rs. 400

निसंग और सोद्‌देश्य व्यंग्य के साथ लिखा गया हिन्दी का शायद यह पहला उपन्यास है। फिर भी रागदरबारी व्यंग्य कथा नहीं है   आगे...

प्रेमचन्द की विरासत और गोदान

शिवकुमार मिश्रा

मूल्य: Rs. 195

गोदान' मूलत: ग्राम-केन्द्रित उपन्यास है और उसी रूप में मान्य भी है   आगे...

प्रेमचन्द के उपन्यासों में समकालीनता

रजनीकांत जैन

मूल्य: Rs. 300

इसके अन्तर्गत उन सभी उपन्यासों के ‘कथानक’ एवं ‘प्रासंगिकता’ का अध्ययन किया गया है   आगे...

प्रेमचन्द : कहानी का रहनुमा

जफर रजा

मूल्य: Rs. 250

प्रस्तुत पुस्तक प्रेमचन्द के अध्ययन एवं अध्यापन को अधिक व्यापक करने के विचार से अपने मन्तव्य प्रस्तुत करती है   आगे...

पाश्चात्य काव्यशास्त्र : अधुनातन संदर्भ

सत्यदेव मिश्रा

मूल्य: Rs. 500

प्रस्तुत कृति संगोष्ठियों में विमर्श के अधुनातन संदर्भों से सम्पूक्त है   आगे...

पन्त, प्रसाद और मैथिलीशरण

रामधारी सिंह 'दिनकर'

मूल्य: Rs. 225

प्रस्तुत पुस्तक में हिन्दी के तीन सुप्रसिद्ध आधुनिक कवियों पर स्वतंत्र रूप से अलग- अलग तीन निबन्ध संग्रहीत किये गये हैं   आगे...

निराला साहित्य में प्रतिरोध के स्वर

विवेक निराला

मूल्य: Rs. 495

यह पुस्तक भारतीय आधुनिक साहित्य की शोषणविरोधी परंपरा को बढ़ाने में निराला के योग को बेहतरीन ढंग से रेखांकित करती है   आगे...

निराला की कविता और काव्यभाषा

रेखा खरे

मूल्य: Rs. 300

प्रस्तुत पुस्तक में काव्यभाषा के संवेदनात्मक स्तर पर रचना-प्रक्रिया के जटिल और संशिलष्ट स्वरुप के परिक्षण का प्रयत्न किया गया है   आगे...

नागार्जुन : अंतरंग और सृजन-कर्म

मुरली मनोहर प्रसाद सिंह

मूल्य: Rs. 600

यह किताब नागार्जुन के कृतित्व के विविध पक्षों को उद्घाटित करती है, इसीलिए यह अपनी सार्थकता रखती है   आगे...

मुक्तिबोध एक अवधुत कविता

श्रीनरेश मेहता

मूल्य: Rs. 150

कवि से आरम्भ करके उसकी कविता को देखें तो कितने विश्वसनीय नतीजे निकलते हैं, कि अरे, मुक्तिबोध इतने आत्मीय और सहज भी थे   आगे...

मोहन राकेश और उनके नाटक

गिरीश रस्तोगी

मूल्य: Rs. 300

मोहन राकेश के नाटकों का यह अध्ययन वस्तुत: हिन्दी नाटक और रंगमंच की पूर्व स्थिति, उसकी उपलब्धियों और सीमाओं को भी सामने लाता है   आगे...

गीतावली (तुलसीदास कृत)

सुधाकर पाण्डेय

मूल्य: Rs. 150

गीतावली' को ध्यान से पढ़ने पर 'रामचरित मानस' और 'विनयपत्रिका' की अनेक पंक्तियों की अनुगूँज सुनाई पड़ती है   आगे...

यूरोप के आधुनिक कवि

श्री प्रकाश मिश्र

मूल्य: Rs. 450

यूरोप की कविता के तमाम पाठकों को यह पुस्तक बड़ी उपादेय होगी   आगे...

द्विवेदीयुगीन आख्यान काव्य

वी. गंगाधरन

मूल्य: Rs. 250

प्रस्तुत पुस्तक में शासकीय विवेचन से पृथक इन दोनों तत्त्वों का सांस्कृतिक दृष्टि से विश्लेषण किया है   आगे...

धूमिल और उनका काव्य-संघर्ष

ब्रह्मदेव मिश्र

मूल्य: Rs. 200

  आगे...

चित्रलेखा का महत्व

मधुरेश

मूल्य: Rs. 395

अपने प्रकाशन के लगभग तत्काल बाद से ही 'चित्रलेखा' किसी-न-किसी रूप में चर्चा और विवादों में रही है। लेकिन उसका खुमार आज भी बना है   आगे...

चिन्तामणि

आचार्य रामचंद्र शुक्ल

मूल्य: Rs. 300

चिन्तामणि का यह तीसरा भाग आचार्य रामचन्द्र शुक्ल के अब तक असंकलित ऐसे इक्कीस निबन्धों का अनूठा संग्रह है जो पुरानी पत्रिकाओं में बिखरे रहने और अप्राप्य पुस्तकों की भूमिका के रूप में प्रकाशित होने के कारण प्रायः दुर्लभ रहे हैं   आगे...

छायावादी काव्य का व्यावहारिक सौन्दर्यशास्त्र

सूर्यप्रसाद दीक्षित

मूल्य: Rs. 200

छायावाद आधुनिक हिन्दी कविता का शिखर है। साहित्य सौन्दर्य की, शुद्ध कविता की और वृहत्तर मानव मूल्यों की सर्वश्रेष्ठ साधना इस युग में प्रतिफलित हुई है   आगे...

चक्रधर की साहित्यधारा

सं. बलभद्र, दुर्गा प्रसाद

मूल्य: Rs. 350

प्रस्तुत पुस्तक से मार्कण्डेय के आलोचक- व्यक्तित्व का पहलू पाठकों के सामने खुलेगा   आगे...

बिहारी रत्नाकर

जगन्नाथ दास रत्नाकर

मूल्य: Rs. 450

इस टीका में अधिकांश दोहों के अर्थ अन्यान्य टीकाओं से भिन्न है। उनके यथार्थ होने की विवेचना पाठकों की समझ, रुचि तथा न्याय पर निर्भर है   आगे...

बिहारी का नया मूल्यांकन

बच्चन सिंह

मूल्य: Rs. 200

प्रस्तुत पुस्तक में बिहारी सतसई का मूल्यांकन करते समय तत्कालीन सामंतीय परिवेश को बराबर दृष्टि में रखा गया है   आगे...

भारतीय साहित्य में मुसलमानों का अवदान

जफर रजा

मूल्य: Rs. 375

प्रो. जाफर रजा की प्रस्तुत पुस्तक हिन्दी-जगत् के लिए एक मूल्यवान् उपहार है। भारतीय साहित्य के अध्ययन में यह बुनियादी दस्तावेज है   आगे...

भारतीय मुक्ति आन्दोलन और प्रेमचंद

सरोज सिंह

मूल्य: Rs. 800

प्रेमचंद का स्वंतत्रता आंदोलन में प्रवेश   आगे...

भारतीय काव्य शास्त्र की भूमिका

योगेन्द्र प्रताप सिंह

मूल्य: Rs. 150

भारतीय काव्य चिन्तन की दृष्टि कविता के स्थापत्य से जुड़ी है। काव्यसृजन शब्दार्थ का एक अद्वैत सहयोग है और कवि अपनी प्रतिभा के संयोग से इस शब्दार्थ में चित्त को विगलित करने की सामर्थ्य उत्पन्न करता है   आगे...

अनुसन्धान प्रविधिः सिद्धान्त और प्रक्रिया

एस. एन. गणेशन

मूल्य: Rs. 195

अनुसंधान की प्रेरणा और योजना से लेकर प्रबंध तैयार करने तक की विविध प्रक्रियाओं का परिचय और विविध दशाओं में उठने वाली समस्याओं के समाधान इसमें मिलेंगे   आगे...

अन्तिम दशक की हिन्दी कविता

रवीन्द्र नाथ मिश्र

मूल्य: Rs. 400

अंतिम दशक की हिंदी कविता की संवेदना को समझने और जनाने के लिए हमें तत्कालीन परिवेश, विचार, भावबोध आदि की संक्षिप्त जानकारी कर लेना समीचीन होगा   आगे...

आलोचना का सच

गणेश पाण्डेय

मूल्य: Rs. 450

गणेश पाण्डेय की यह किताब पुस्तक समीक्षाओं का जखीरा नहीं है, बल्कि पुस्तक समीक्षाओं के आतंक और आलोचना के नाम पर ठस अपठनीय गद्य से पाटक को मुवत करने की एक दिलचस्प और यादगार कोशिश है   आगे...

अज्ञेय की उपन्यास यात्रा

ए. अरविंदक्षन

मूल्य: Rs. 80

  आगे...

अज्ञेय काव्य में प्रतिबिंब और मिथक

सी. एस. राजन

मूल्य: Rs. 175

  आगे...

आचार्य महावीर प्रसाद द्विवेदी के श्रेष्ठ निबंध

विनोद तिवारी

मूल्य: Rs. 600

  आगे...

आलोचकथा

राम स्वरूप चतुर्वेदी

मूल्य: Rs. 160

'आलोचकथा' अकाल्पनिक गद्य को संपूर्ण रूप में बरतती है, जहाँ आत्मकथा-संस्मरण- रेखाचित्र-जर्नल- आलोचना के विविध रूप एक-दूसरे में घुल-मिल गये हैं   आगे...

आधुनिक काव्य शास्त्र

शेषेन्द्र शर्मा

मूल्य: Rs. 175

  आगे...

आधुनिक हिन्दी साहित्य का इतिहास

बच्चन सिंह

मूल्य: Rs. 500

आधुनिक युग इतनी तेजी से बदल रहा है और बदल रहा है कि साहित्य के बदलाव से भी उसे समझा जा सकता है   आगे...

आधुनिक हिन्दी कविता

विश्वनाथ प्रसाद तिवारी

मूल्य: Rs. 195

स्वाधीनता, स्त्री-मुक्ति और मृत्यु-बोध पर आधारित आधुनिक कविताएँ   आगे...

साहित्य के नये प्रश्न

प्रभाकर श्रोत्रिय

मूल्य: Rs. 300

  आगे...

छायावाद के कवि

विजय बहादुर सिंह

मूल्य: Rs. 595

  आगे...

आलोचना की उत्तर परम्परा

रमेश दवे

मूल्य: Rs. 500

  आगे...

हिन्दी आलोचना : समकालीन परिदृश्य

कृष्णदत्त पालीवाल

मूल्य: Rs. 300

  आगे...

कहानी का उत्तर समय : सृजन संदर्भ

पुष्पपाल सिंह

मूल्य: Rs. 900

  आगे...

अनामिका : एक मूल्यांकन

अभिषेक कश्यप

मूल्य: Rs. 900

  आगे...

निराला का गद्य और भारतीय समाज

ममता तिवारी

मूल्य: Rs. 600

  आगे...

मैत्रेयी पुष्पा : तथ्य और सत्य

दया दीक्षित

मूल्य: Rs. 495

  आगे...

स्वातंत्र्योत्तर हिन्दी काव्यधारा की मूल्य चेतना

अपर्णा सारस्वत

मूल्य: Rs. 395

  आगे...

आवाँ विमर्श

करुणाशंकर उपाध्याय

मूल्य: Rs. 460

  आगे...

अँधेरे समय में शब्द

परमानन्द श्रीवास्तव

मूल्य: Rs. 250

  आगे...

रचना का जनपक्ष

शिव नारायण

मूल्य: Rs. 360

  आगे...

रसचर्चा

पद्माकर दादेगावकर

मूल्य: Rs. 695

  आगे...

हिन्दी साहित्य और बाल विमर्श

ऊषा यादव, राजकिशोर सिंह

मूल्य: Rs. 595

  आगे...

आलोचना की संस्कृति

परमानन्द श्रीवास्तव

मूल्य: Rs. 395

  आगे...

शमशेर की आलोचना दृष्टि

गजेन्द्र पाठक

मूल्य: Rs. 150

  आगे...

अज्ञेय की आलोचना दृष्टि

राजेन्द्र प्रसाद पाण्डेय

मूल्य: Rs. 200

  आगे...

प्रेमचन्द की विरासत

राजेन्द्र यादव

मूल्य: Rs. 300

  आगे...

भेद खोलेगी बात ही

विजयमोहन सिंह

मूल्य: Rs. 250

  आगे...

शिवमंगल सिंह सुमन : मनुष्य और सृष्टा

प्रभाकर श्रोत्रिय

मूल्य: Rs. 75

  आगे...

रंगशाला में एक दोपहर

स्वयंप्रकाश

मूल्य: Rs. 200

  आगे...

भारतीय सौन्दर्य सिद्धान्त की नयी परिभाषा (मराठी से)

सुरेन्द्र बारलिंगे

मूल्य: Rs. 225

भारतीय सौन्दर्य सिद्धान्त की नयी परिभाषा' डॉ. सुरेन्द्र बारलिंगे की मौलिक चिन्तनपरक कृति है,   आगे...

कविता पहचान का संकट

नवलकिशोर नवल

मूल्य: Rs. 230

डा. नन्दकिशोर नवल हिन्दी के सुपरिचित आलोचक हैं जिनका कार्य-क्षेत्र मुख्य रूप से कविता है. प्रस्तुत कृति 'कविता : पहचान का संकट' उनके कविता-सम्बन्धी लेखों का नया संग्रह है   आगे...

उपन्यास की समकालीनता

ज्योतिष जोशी

मूल्य: Rs. 200

उपन्यास की समकालीनता' बीसवीं शताब्दी के अंतिम दो दशकों में लिखे गए उपन्यासों के सिंहावलोकन का यत्न है….   आगे...

धूप छाँही दिनकर

शम्भूनाथ

मूल्य: Rs. 150

धूपछाँही दिनकर' राष्ट्रकवि रामधारी सिंह 'दिनकर' के सुधि अध्येता डॉ0 शंभु नाथ की एक महत्वपूर्ण समालोचनात्मक कृति है…   आगे...

दलित साहित्य का समाजशास्त्र

हरिनारायण ठाकुर

मूल्य: Rs. 450

चर्चित लेखक/समीक्षक हरिनारायण ठाकुर की दलित साहित्य पर एक और महत्वपूर्ण कृति है-- 'दलित साहित्य का समाजशास्त्र'...   आगे...

विभाजन की त्रासदी : भारतीय कथादृष्टि

नरेन्द्र मोहन

मूल्य: Rs. 100

विभाजन की त्रासदी पर भारतीय रचनाकारों का दृष्टिकोण   आगे...

महाभारत की कथा

बुद्धदेव बसु

मूल्य: Rs. 150

बांग्ला के प्रसिद्ध प्रयोगशील लेखक बुद्धदेव बसु द्वारा एक भिन्न दृष्टिकोण से और साहित्यिक व्याख्या के रूप में किया गया महाभारत की कथा और प्रमुख पात्रों का विश्लेषण। बांग्ला की एक बहुचर्चित कृति, हिन्दी में पहली बार।   आगे...

 

  View All >> इस संग्रह में कुल 222 पुस्तकें हैं|