List of Hindi Books on Feminism at Pustak.org - पुस्तक.आर्ग में स्त्री विमर्श की हिन्दी पुस्तकों का संकलन
लोगों की राय

उपन्यास >> नारी विमर्श

गोली

आचार्य चतुरसेन

मूल्य: Rs. 135

राजस्थान के राजों-महाराजों और उनकी दासियों के बीच वासना-व्यापार पर ऐतिहासिक कथा-लेखक आचार्य चतुरसेन की कलम से निकला अत्यन्त मार्मिक एवं रोचक उपन्यास...   आगे...

पुरवा

मंजु सिंह

मूल्य: Rs. 200

हम कितना पिछड़ गये हैं अपने जीवन में तनावग्रस्त भी कोई जीवन होता है—बोझा सा ढोते चले-चले हैं, बस भागे चले जा रहे हैं....   आगे...

चैत की दोपहर में

आशापूर्णा देवी

मूल्य: Rs. 100

चैत की दोपहर में नारी की ईर्ष्या भावना, अधिकार लिप्सा तथा नैसर्गिक संवेदना का चित्रण है।...   आगे...

अपने अपने दर्पण में

आशापूर्णा देवी

मूल्य: Rs. 300

इस उपन्यास की पटभूमि एक बंगाली समाज है जो एक बदलाव के मोड़ से गुज़र रहा है। यहाँ प्राचीन धारणाओं, प्राचीन आदर्शों तथा मूल्यबोध पर आधारित मानव जीवन नवीन सभ्यता की चकाचौंध से कुछ विभ्रांत-सा हो गया है।...

  आगे...

मन की उड़ान

आशापूर्णा देवी

मूल्य: Rs. 250

लगता है बालू के नीचे भी तरंगें चलती हैं जो जीवन को सदा हिलोरती रहती हैं। इसी का चित्रण है अन्तः तरंग में...   आगे...

तुलसी

आशापूर्णा देवी

मूल्य: Rs. 80

आशापूर्णा देवी का लेखन उनका निजी संसार नहीं है। वे हमारे आस-पास फैले संसार का विस्तारमात्र हैं। इनके उपन्यास मूलतः नारी केन्द्रित होते हैं...   आगे...

शायद सब ठीक है

आशापूर्णा देवी

मूल्य: Rs. 150

ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित लेखिका आशापूर्णा देवी का एक नया उपन्यास....   आगे...

मंजरी

आशापूर्णा देवी

मूल्य: Rs. 175

आशापूर्णा देवी का मर्मस्पर्शी उपन्यास....   आगे...

खरीदा हुआ दुख

आशापूर्णा देवी

मूल्य: Rs. 150

आशापूर्णा जी के उपन्यास मूलतः नारी केन्द्रित होते हैं। सृजन की श्रेष्ठ सहभागी होते हुए भी नारी का पुरुष के समान मूल्यांकन नहीं है...   आगे...

चश्में बदल जाते हैं

आशापूर्णा देवी

मूल्य: Rs. 100

बाप बेटा को समझाना चाहता है कि युग बदल गया है-तुम्हारा चश्मा बदलना जरूरी है। वृद्ध पिता के चेहरे पर हँसी बिखर जाती है।   आगे...

 

12345Last ›  View All >> इस संग्रह में कुल 386 पुस्तकें हैं|