List of Hindi books based on Letters and Correspondences at Pustak.org - पुस्तक.आर्ग में हिन्दी की पत्र और पत्रकारिता पर आधारित पुस्तकों का संकलन
लोगों की राय

पत्र एवं पत्रकारिता

मिटता भारत बनता इंडिया

शशि शेखर

मूल्य: Rs. 600

उदारीकरण की आँधी में मिटते भारत और बनते इंडिया की गूँज अगर सुननी हो तो शशि शेखर की इस पुस्तक के इन लेखों को पढ़ जाइए।   आगे...

लुटियन के टीले का भुगोल

प्रभाष जोशी

मूल्य: Rs. 450

लुटियन के टीले का भूगोल’ में प्रभाष जोशी के वे लेख संकलित किए गए हैं जिनके केन्द्र में हैं राजनीतिक दल और उनसे जुड़े राजनीतिज्ञ तथा लोकतन्त्र को कायम रखनेवाली संस्थाएँ।   आगे...

खेल सिर्फ खेल नहीं है

प्रभाष जोशी

मूल्य: Rs. 450

खेल सचमुच एक अनुशासन है जो मनुष्य को पूरा बनाता और प्रकट करता है।“   आगे...

कसौटी पर मीडिया

मुकेश कुमार

मूल्य: Rs. 450

इन लेखों में एक चिंता साफ़ दिखाई देती है कि खबर जो भी हो मीडिया अक्सर असल मुद्दे से हटकर, उसे भावुकता की चाशनी में डुबाकर उन्माद पैदा करने की कोशिश करता है।   आगे...

कहने को बहुत कुछ था

प्रभाष जोशी

मूल्य: Rs. 750

प्रभाष जोशी की इस पुस्तक में उनके सम्पूर्ण लेखन से चुनकर प्रतिनिधि लेखों का संग्रह किया गया है।   आगे...

जीने के बहाने

प्रभाष जोशी

मूल्य: Rs. 550

प्रभाष जोशी ने ‘जीने के बहाने’ में अपने समय के चर्चित व्यक्तित्वों के चरित्र और विचार का दो टूक विश्लेषण किया है।   आगे...

जब तोप मुकबिल हो

प्रभाष जोशी

मूल्य: Rs. 400

पुस्तक में प्रभाष जोशी के पत्रकारिता और मीडिया के दूसरे माध्यमों से सम्बन्धित लेखों के अलावा भाषा, अर्थ, जगत और महिलाओं से जुड़े लेख संकलित हैं।   आगे...

धन्न नरबदा मैया हो

प्रभाष जोशी

मूल्य: Rs. 600

इनमें पर्यावरण और संस्कृति के मेरे सरोकार हैं और कुछ यात्रा विवरण हैं, जो यात्रा वृत्तान्त की तरह नहीं अपनी अन्तर्यात्रा में अपनी तलाश के किस्से हैं।   आगे...

वेब पत्रकारिता: नया मीडिया नये रुझान

शालिनी जोशी, शिवप्रसाद जोशी

मूल्य: Rs. 200

किताब वेब मीडिया के छात्रों और प्रशिक्षुओं को इस माध्यम की बारीकियों के बारे में बताते हुए लिखी गई है   आगे...

तूफानों के बीच

रांगेय राघव

मूल्य: Rs. 200

‘तूफानों के बीच’ रांगेय राघव का मार्मिक रिपोर्ताज है।   आगे...

 

 < 1 2 3 4 5 >  Last ›  View All >> इस संग्रह में कुल 101 पुस्तकें हैं|