Upasana Aur Arti/उपासना एवं आरती
लोगों की राय

धर्म एवं दर्शन >> उपासना एवं आरती

गुप्त-साधना-तंत्रम

प्रदीप कुमार राय

मूल्य: Rs. 200

  आगे...

गुप्त-साधना-तंत्रम

गिरिधारी भट्ट

मूल्य: Rs. 100

  आगे...

101 वर्षीय शताब्दी पंचांग

अरुण कुमार बंसल

मूल्य: Rs. 400

  आगे...

शारदा प्रदीप

मृदुला त्रिवेदी

मूल्य: Rs. 495

  आगे...

मंत्र-संदर्शन

मृदुला त्रिवेदी

मूल्य: Rs. 595

  आगे...

तीर्थराज प्रयाग

बनवारी लाल कंछल

मूल्य: Rs. 60

तीर्थराज प्रयाग...   आगे...

भारत के महालक्ष्मी धाम

बनवारी लाल कंछल

मूल्य: Rs. 100

भारत के महालक्ष्मी धाम...   आगे...

84 फलदायक मंदिर

बनवारी लाल कंछल

मूल्य: Rs. 150

84 फलदायक मंदिर...   आगे...

उम्मीद अब भी बाकी है

रविशंकर उपाध्याय

मूल्य: Rs. 200

युवा कवि रविशंकर उपाध्याय से मेरी पहली और शायद अन्तिम भी, भेंट मेरी पिछली बनारस-यात्रा (30 अप्रैल, 2014) में लाल बहादुर शास्त्री हवाईअड्डा पर हुई थी। उन्होंने अपना परिचय दिया और यह भी बताया कि वे एक कवि हैं। इससे पहले उनकी कविताएँ यहाँ-वहाँ छपी थीं, शायद उन पर मेरी निगाह पड़ी हो पर मैं उन्हें रजिस्टर नहीं कर सका था। यह भेंट प्रचण्ड गर्मी के बीच हुई थी, जब वे मेरी अगुवानी में हवाईअड्डा आए थे। रास्ते-भर उनसे काफी बातें होती रहीं। अब याद करता हूँ तो दो बातें मेरी स्मृति में खास तौर से दर्ज हैं। पहली समकालीन हिन्दी कविता के बारे में उनकी विस्तृत और गहरी जानकारी और दूसरी, कुछ कवियों और कविताओं के बारे में उनकी अपनी राय। इन दोनों बातों ने मुझे प्रभावित किया था।

बाद में विश्वविद्यालय में जो कार्यक्रम हुआ उसमें उनकी कविताएँ भी मैंने सुनीं और उन कविताओं की एक अलग ढंग की स्वरलिपि मेरे मन में अब भी अंकित है। मैं शायद दो दिन विश्वविद्यालय के गेस्ट हाउस में रुका था और इस बीच लगातार उनसे मिलना होता रहा। उनसे मेरी अन्तिम भेंट विश्वविद्यालय परिसर में विश्वनाथ मन्दिर के बाहर एक चाय की दुकान पर हुई थी, जहाँ उनके कुछ गुरुजन भी थे। वहाँ मैंने उनकी कविता में जो एक गहरी ऐन्द्रियता और एक खास तरह की गीतात्मकता है, उस पर चर्चा की थी। पर ये दो शब्द उनकी कविता की पूरी तस्वीर नहीं पेश करते।

अब जब उनका पहला संग्रह आ रहा है और कैसी विडम्बना कि उनके न होने के बाद आ रहा है। इसे पढ़कर पाठकों को उनका ज्यादा प्रामाणिक परिचय मिलेगा। रविशंकर के बारे में कहने के लिए बहुत-सी बातें हैं पर मैं चाहता हूँ कि यह संग्रह ही लोगों से बोले-बतियाए। मैं इस युवा कवि की स्मृति को नमन करता हूँ!   आगे...

मंत्र वातायन

पद्मा राठी

मूल्य: Rs. 100

जीवनोपयोगी मंत्रों का उत्तम संग्रह   आगे...

 

1234Last ›  View All >> इस संग्रह में कुल 68 पुस्तकें हैं|