Anuradha Prakashan/अनुराधा प्रकाशन
लोगों की राय

अनुराधा प्रकाशन की पुस्तकें :

अट्ठन्नी वाले बाबूजी

पवन तिवारी

मूल्य: Rs. 200

इस उपन्यास में गांव की खूबियों के साथ ही कई समस्याओं को भी उजागर किया है।   आगे...

अधूरी आशिक़ी

नीरज कुमार त्रिपाठी

मूल्य: Rs. 125

व्यंग्य के लिए किसी विषय की आवश्यकता नहीं है यह तो बस आपके इर्द–गिर्द ही व्याप्त है। आज के भागते माहौल में अपनी बातों को छोटे शब्दों में प्रस्तुत करने की चेष्टा की है।   आगे...

आखिरी ई-मेल

ओम प्रकाश यादव

मूल्य: Rs. 160

दोनों एक ही कॉलेज में बी–टेक के छात्र थे। दोनों बहुत अच्छे दोस्त थे। दोनों साथ बैठकर लंच करते, शाम को एक साथ कॉलेज से बाहर निकलते और रोज फेसबुक पर घंटों बातें करते।   आगे...

आगरा 15 किलोमीटर

संजय दानी

मूल्य: Rs. 200

‘आगरा 15 किलोमीटर’ एक हिन्दी उपन्यास है जो भारत–पाकिस्तान के संबंधो पर आधारित है।   आगे...

आदमी तो सब जगह हैं

बिमला रावर सक्सेना

मूल्य: Rs. 250

‘आदमी तो सब जगह हैं’ के सूत्र में पिरोई गयी बिमला रावर सक्सेना की कवितायें उनकी ऐसी आप बीती का झरोखा है।   आगे...

आद्याशक्ति सहस्त्रोष्टोतर स्त्रोत

महेश चन्द्र सिंह अधिकारी

मूल्य: Rs. 100

अष्टोत्तर श्लोकों की एक विशेषता यह है कि एक नाम दुबारा नहीं आया है और नामवाली क्रमबद्ध करने पर समय लगा। उक्त कार्य में भगवान की कृपा और पुराणों के अध्ययन के अलावा किसी का सहारा नहीं लिया गया है।   आगे...

ईमानदार व्यक्ति की परिभाषा

कुशलेन्द्र श्रीवास्तव

मूल्य: Rs. 200

कुशलेन्द्र श्रीवास्तव की व्यंग्य रचनाओं में सामाजिक उत्तरदायित्व का भाव दृष्टिगत होता है।   आगे...

उरकलश

उषा मैसन लूथर

मूल्य: Rs. 200

अध्यात्म एवं जीवन मूल्यों को संजोए एकल काव्य संग्रह।   आगे...

उरदर्पण

उषा मैसन लूथर

मूल्य: Rs. 200

‘उरदर्पण’ पुस्तक में 165 रचनाओं का समावेश है।   आगे...

उरध्वनि

उषा मैसन लूथर

मूल्य: Rs. 200

आज की इस तनाव भरी और भीड़ भाड़ भरी जिंदगी में हर इंसान इतना मसरूफ है कि कहीं भी ठहराव नाम की कोई जगह नहीं है।   आगे...

एक आत्मा की यात्रा

कुशलेन्द्र श्रीवास्तव

मूल्य: Rs. 225

कुशलेन्द्र श्रीवास्तव की व्यंग्य रचनाओं में सामाजिक उत्तरदायित्व का भाव दृष्टिगत होता है।   आगे...

और झाड़ू धन्य हो गई

कुशलेन्द्र श्रीवास्तव

मूल्य: Rs. 200

समाज की समसामायिक बाह्य एवं अन्तर्दशा से सम्बन्धित अनेक समस्याओं को रेखांकित किया है।   आगे...

छठा पूत

वन्दना मोदी गोयल

मूल्य: Rs. 250

ये उपन्यास दरअसल समाज में रहने वाले कुछ ऐसी मानसिकता वाले लोगों के संर्पक में आने के बाद लिखा गया जो बेटियों को समाज में, घर में और अपने भाग्य में बोझ समझते हैं।   आगे...

जर्नी टू एटरनिटी

रचित बंसल

मूल्य: Rs. 175

जीवन के अनुभवों की सूक्षमता अभिव्यक्ति   आगे...

जिन्दगी और जिन्दगी

सुनीति कवांत्रा

मूल्य: Rs. 300

प्रस्तुत काव्य–संग्रह ‘ज़िन्दगी और ज़िन्दगी’ की अपनी कविताओं में ज़िन्दगी के विभिन्न रूपों को प्रगट किया है।   आगे...

तिनका एक सफरनामा

संजीव दीक्षित

मूल्य: Rs. 150

‘‘तिनका - एक सफरनामा’’ एक किताब मात्र नहीं है और न ही कविताओं के संग्रह तक सीमित है बल्कि मेरे लिए खुली आँख से देखा ख्वाब है।   आगे...

दर्पण

शबनम शंकर

मूल्य: Rs. 120

स्वार्थपरक सोच से जन–जन के हृदय को आहत पहुँचते हुए भी सभी ने देखा होगा। बस, इन्हीं दृश्यों से उत्पन्न चिंतन शब्द–बद्ध होकर कविता बनी, जिसमें यथार्थ का ज्वलन्त भाव समाहृत है।   आगे...

दा मोटीवेटर

पारिजत प्रसून

मूल्य: Rs. 200

  आगे...

निशब्द

उषा कस्तूरिया

मूल्य: Rs. 300

‘निशब्द’ पुस्तक में आस–पास घटित होने वाली घटनाओं का बहुत सुन्दर चित्रण किया गया है।   आगे...

नौ रंग

दिवांशु नारंग

मूल्य: Rs. 225

  आगे...

प्रत्यंचा

कामिनी कामायनी

मूल्य: Rs. 300

‘संग्रह’ में हर प्रकार के विमर्श की कविताएं हैं। कह सकते हैं कि आज के भौतिकवादी जीवन का धुला पुछा साफ–सुथरा आईना है यह ‘संग्रह’।   आगे...

बेग योर पॉरडन

अनन्त जोशी

मूल्य: Rs. 250

कोयला खानों में काम करने वाले मजदूरों के जीवन पर आधारित उपन्यास   आगे...

भटके मेरा मन बंजारा

बिमला रावर सक्सेना

मूल्य: Rs. 250

प्रस्तुत पुस्तक में कविताओं में जीवन की दशों–दिशाओं का और मनोभावों का सरल और ग्राह्य शब्दांकन आप तक पहुँच रहा है।   आगे...

भारत एक और परिवर्तन

पंडित ओम

मूल्य: Rs. 450

गोया संविधान के प्रारम्भ में ‘प्रस्तावना’ में ही ये लिखा जरूर गया – ‘‘हम भारत के लोग - इस संविधान को अंगीकृत, अधिनियमित, आत्मार्पित करते हैं।’’   आगे...

भ्रष्टाचार

नरेन्द्र

मूल्य: Rs. 200

सत्ता की भूख और पैसे की प्यास समानुसार भिन्न-भिन्न प्रकार के तरीकों से मिटाई-बुझाई जाती है। स्वार्थ की अति से क्रमशः समाज में दुराचार, व्यापार में लालची लाभ व सरकार में निन्दनीय भ्रष्टाचार पैदा होता है।   आगे...

मंज़र गवाह हैं

यशपाल सिंह

मूल्य: Rs. 200

जीवन के विभिन्न पहलुओं को अपनी ग़ज़लों के माध्यम से दर्शाया है जिसमें रिश्ते की गहराई भी है और महंगाई, राजनीति का दर्शन है।   आगे...

मत थको विहग

आशा सहाय

मूल्य: Rs. 275

80 कविताओं का यह संग्रह विविधता से परिपूर्ण है – ‘मत थको विहग’ शीर्षक ही ‘मन की तेरी यह अल्प थकन’ की ओर संकेत करके जैसे उसके पंखों को हल्के से सहला देती है।   आगे...

मन की गीता

महेश चन्द्र सिंह अधिकारी

मूल्य: Rs. 60

भगवान श्रीकृष्ण ने हनुमान जी से पूछा कि हे कपि श्रेष्ठ क्या तुमने भी गीता सुनी ? तब कपि श्रेष्ठ ने आनन्द मग्न हो उत्तर दिया कि - हे प्रभो ! भेद खुलने के संदेह से मैं नीचे नहीं आया। तब भगवान कृष्ण ने हनुमान जी को आदेश दिया कि तुम अब मन की गीता बनाओ।   आगे...

मन की बात

सुधीर सिंह

मूल्य: Rs. 200

समाज में जो कटु सत्य मैंने देखा, सुना, परखा और अनुभव कियाय उसे ही कविता के रूप में अपने परिमित ज्ञान की परिधि में रखते हुए यथासंभव उजागर करने का प्रयास किया।   आगे...

मन भ्रमण

सोनाली सिंघल

मूल्य: Rs. 200

सरल भाषा से भरी इन कविताओं में केवल मन की आवाज़ छुपी है वो आवाज़ जो मैं अपने आसपास महसूस करती हूँ।   आगे...

यंगिस्तान के नौनिहाल

नीरज कुमार त्रिपाठी

मूल्य: Rs. 150

एक लेखक के तौर पर समाज के हर कोने में झाँकने की आदत ने मुझे कुछ अनजाने से पहलुओं को उकेरने में भारी योगदान दिया है। इस किताब में मैंने नौजवानों के एक बड़े समूह का चित्र खींचने का प्रयास किया है।   आगे...

रजनी गंधा

शबनम शंकर

मूल्य: Rs. 120

यथार्थ से अनुभव लेकर उनको कविताओं के माध्यम से व्यक्त किया है।   आगे...

वापसी

दिनेश मिश्रा

मूल्य: Rs. 200

यह उपन्यास प्रेम कहानी पर आधारित है। जिसमें नायिका नायक को बहुत कठिनाइयों के उपरांत प्राप्त करती है। जीवन मूल्यों एवं राष्ट्रीय मूल्यों को पात्रों एवं घटनाओं के माधयम से प्रदर्शित किया है।   आगे...

श्री अक्षरगीता महिमा वैभव

वीरेन्द्र शर्मा

मूल्य: Rs. 60

गीता के प्रथम पाँच अध्याय पंचानन भगवान महेश्वर के पाँच मुख हैं। आगे के दस अध्याय उनकी दस भुजाएँ हैं। सोलहवाँ अध्याय उनका उदर है। सत्तरहवें व अट्ठारहवें अध्याय उनके दोनों चरण है।   आगे...

श्री राम विवाह

गिरीन्द्र मोहन झा

मूल्य: Rs. 150

श्रीराम विवाह – पावन परिणय ग्रंथ सहज संक्षिप्त काव्यमय गागर में समृद्ध सुन्दर भावमय सागर है।   आगे...

सच्चा प्यार क्या है

जुयाल सुबोध

मूल्य: Rs. 200

प्रेम पर आधारित उपन्यास, एक सर्द शाम को नेहा और में दोनों रानी झील के किनारे पर टहल रहे थे मैंने उफनती लहरों को देखते हुए नेहा से पूछा कुछ लोग कहते हैं।   आगे...

सन्देश

ब्रजेश पाण्डेय

मूल्य: Rs. 175

ब्रजेश जी ने अपनी कविता के माधयम से आपसे–हमसे अपने विचार बड़ी सहजता–सरलता एवं कुशलतापूर्वक साझा किये हैं।   आगे...

सारथी का सन्देश

गंदर्भ आनन्द

मूल्य: Rs. 250

प्रस्तुत पुस्तक में अलग-अलग काव्य-छन्दों का अध्यायवार विश्लेषण प्रस्तुत किया गया है। जिस प्रकार मूल पुस्तक में अठारह अध्याय दिये हुए हैं, ठीक उसी प्रकार प्रस्तुत पुस्तक में अठारह सर्गों का अध्यायवार समावेश किया गया है।   आगे...

सिसकियाँ

नवल सिंह

मूल्य: Rs. 200

कविताओं के विषय कुछ इस प्रकार हैं जैसे बरसात, नदियां, पहाड़, धूप इत्यादि और ग़ज़लों में, कविताओं में और नज़्मों में इनकी उपस्थिति कुछ ज्यादा ही मिलेगी।   आगे...

सुखमन का मोड़ा

कुशलेन्द्र श्रीवास्तव

मूल्य: Rs. 200

कहानियां सीमेन्टी बयार में शूल भरी राहों को खोजती है, उसका हर पात्र भटकता हुआ प्रतिबिम्ब है जिसे मातृत्व से प्यार है, जिसे अपनी माटी से स्नेह है जिसे अपने एकाकी हो जाने पर एतराज नहीं है, शायद समाज के वर्तमान परिवेश से निकले ये पात्र हमारा प्रतिनिधित्व कर रहे हैं।   आगे...

सूफिस्म

आर.एम. चोपड़ा

मूल्य: Rs. 895

  आगे...

स्वर लहरी

पुष्पा सिंह

मूल्य: Rs. 200

इस पुस्तक में आसपास घटित हो रही घटनाओं को बहुत ही मार्मिक चित्रण प्रस्तुत किया गया है।   आगे...

हिंदी विविध सन्दर्भ

राम सिंह

मूल्य: Rs. 325

हिंदी एक समृद्धशाली भाषा है, जो भारतीयों के हृदय में वास करती है। भारत का दिल आज भी हिंदी में धड़कता है।   आगे...

हिमखंड

वन्दना मोदी गोयल

मूल्य: Rs. 200

एक ऐसी औरत की कहानी, जो उम्र भर अपनी आत्मा पर, अपने जिस्म पर, पुरूष नाम के कोढ़ को ढोती रही।   आगे...

   44 पुस्तकें हैं|