Lokbharti Prakashan/लोकभारती प्रकाशन
लोगों की राय

लोकभारती प्रकाशन की पुस्तकें :

अनुवादः अवधारणा और विमर्श

श्रीनारायण समीर

मूल्य: Rs. 250

अनुवाद को रचना का अनश्वर उद्यम घोषित करना निस्सन्देह इस किताब का मौलिक और सर्वथा नया विमर्श माना जाएगा।   आगे...

अनुवाद और उत्तर आधुनिक अवधारणाएँ

श्रीनारायण समीर

मूल्य: Rs. 250

प्रस्तुत पुस्तक में अनुवाद के इसी बदले रूप और रचाव पर भूमंडलीकरण, बाजारवाद और सूचनाक्रान्ति के परिप्रेक्ष्य में विचार किया गया है   आगे...

अनुवाद की प्रक्रियाः तकनीक और समस्याएँ

श्रीनारायण समीर

मूल्य: Rs. 450

अनुवाद भाषिक कला है और किसी भाषा-रचना को दूसरी भाषा में पुनर्सृजित करने का कौशल भी   आगे...

अनुवाद की समस्याएँ

जी गोपीनाथन

मूल्य: Rs. 495

हिन्दी तथा विश्व की अन्य महत्वपूर्ण भाषाओं के बीच अनुवाद की भाषागत समस्याओं के बारे में यह द्विभाषी (हिन्दी अंग्रेजी) पुस्तक एक अन्तर्राष्ट्रीय परिचर्चा के रूप में पत्राचार द्वारा संकलित की गयी है   आगे...

अनुसन्धान प्रविधिः सिद्धान्त और प्रक्रिया

एस एन गणेशन

मूल्य: Rs. 195

अनुसंधान की प्रेरणा और योजना से लेकर प्रबंध तैयार करने तक की विविध प्रक्रियाओं का परिचय और विविध दशाओं में उठने वाली समस्याओं के समाधान इसमें मिलेंगे   आगे...

अन्तिम आकांक्षा

सियारामशरण गुप्त

मूल्य: Rs. 125

एक रोचक और मनोरंजक उपन्यास   आगे...

अन्तिम दशक की हिन्दी कविता

रवीन्द्रनाथ मिश्र

मूल्य: Rs. 400

अंतिम दशक की हिंदी कविता की संवेदना को समझने और जनाने के लिए हमें तत्कालीन परिवेश, विचार, भावबोध आदि की संक्षिप्त जानकारी कर लेना समीचीन होगा   आगे...

अन्नपूर्णा और अन्त्योदय

निशा नौटियाल

मूल्य: Rs. 25

  आगे...

अप्सरा का शाप

यशपाल

मूल्य: Rs. 150

कुटिया से मेनका के लोप हो जाने पर जब तक शिशु कन्या महर्षि विश्वामित्र की गोद में किलकती-हुमकती रही, वे शिशु में मग्न रह कर सब कुछ भूले रहे...   आगे...

अभिशप्त

यशपाल

मूल्य: Rs. 225

‘अभिशप्त’ कहानी संग्रह में उनकी ये कहानियाँ शामिल हैं: दास धर्म, अभिशप्त, काला आदमी, समाधि की धूल, रोटी का मोल, छलिया नारी, चार आने, चूक गयी, आदमी का बच्चा, पुलिस की दफा, रिजक, भगवान किसके?, नमक हलाल, पुनिया की होली, हवाखोर और शम्बूक   आगे...

 < 1 2 3 4 5 >  Last ›  View All >>   697 पुस्तकें हैं|