अंगड़-खंगड़/angad-khangad
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

अंगड़-खंगड़  : वि० [अनु] १. टूटा-फूटा (समान)। २. गिरा-पड़ा अथवा इधर-उधर बिखरा हुआ सामान। ३. बचा-खुचा और निर्रथक। पुं० व्यर्थ की चीजें जो टूटी-फूटी इधर-उधर बिखरी पड़ी हो।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ