गंग/gang
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

गंग  : पुं० [सं० गंगा] एक मात्रिक छंद जिसके प्रत्येक चरण में ९ मात्राएँ और अंत में दो गुरु होते हैं। स्त्री० =गंगा (नदी)।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगई  : स्त्री० [अनु० गेंगें से] मैना की तरह की एक भूरे रंग की चिड़िया। गलगलिया। सतभइया।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगका  : स्त्री० [सं० गंगा+कन्–टाप्, अत्व]=गंगा।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगकुरिया  : स्त्री० [सं० गंगा–कूल] एक प्रकार की हल्दी।(उड़ीसा)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगतिरिया  : स्त्री० [हिं० गंगा+तीर] दलदलों में होनेवाला एक प्रकार का पौधा।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगन  : पुं०=गगन।(यह शब्द केवल पद्य में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगबरार  : पुं० [हिं० गंगा+फा० बरार=बाहर या ऊपर लाया हुआ] किसी नदी की धारा के पीछे हटने से निकल आनेवाली जमीन।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गँगरी  : स्त्री० [देश०] एक प्रकार की कपास।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगला  : पुं० [?] १. एक प्रकार का शलजम। २. एक प्रकार का वृक्ष।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगशिकस्त  : पुं० [हिं० गंगा+फा० शिकस्त=तोड़ा हुआ] वह भूमि जो नदी की धारा के आगे बढ़ने के कारण जल-मग्न हो गयी हो। वह भूमि जिसे बरसात में नदी काट ले गयी हो।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगांबु  : पुं० [सं० गंगा-अंबु ष० त० ] १. गंगाजल। २. पवित्र तथा शुद्ध जल। ३. वर्षा का जल।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगा  : स्त्री० [सं०√गम्(जाना)+गन्–टाप्] १. भारतवर्ष की एक प्रधान और पवित्र नदी जो हरिद्वार के ऊपर से निकल कर कलकत्ते के पास बंगाल की खाड़ी में गिरती है। जाह्ववी। भागीरथी। मुहावरा–गंगा नहाना=किसी कर्त्तव्य का पालन करके उससे छुट्टी पाना या निश्चित होना। २. हठ-योग में, इड़ा (नाड़ी) का दूसरा नाम। ३. सहस्य संप्रदाय में, मन को शुद्ध करनेवाली पवित्र वाणी।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगा-गति  : स्त्री० [स० त० ] १. मृत्यु। २. मृत्यु के उपरांत होने वाली मुक्ति। मोक्ष।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगा-चिल्ली  : स्त्री० [मध्य० स० ] जल-कुक्कुटी। (पक्षी)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगा-जमनी  : वि० [हिं० गंगा+जमुना] १. गंगा और यमुना के मेल की तरह दो तरह का या दो रंगों का। जैसे–गंगा-जमुनी दाल=(केवटी दाल); गंगा जमुनी साड़ी। २. सोने चाँदी अथवा ताँबे और पीतल के मेल से बना हुआ, जैसे–गंगा-जमुनी कुरसी या लोटा। ३. सफेद और काला मिला हुआ। ४. अबलक। चितकबरा। स्त्री० कान में पहनने का एक प्रकार का गहना।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगा-जल  : पुं० [ष० त०] १. गंगा नदी का जल जो बहुत पवित्र माना जाता है। २. पुरानी चाल का एक प्रकार का बढ़िया सूती कपड़ा जिसकी पगड़ियाँ बनती थीं।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगाजली  : स्त्री० [सं० गंगाजल] शीशे या धातु की सुराहीनुमा लुटिया जिसमें यात्री तीर्थों से पवित्र जल लाते हैं। मुहावरा–गंगाजली उठाना=हाथ में गंगाजली लेकर शपथ पूर्वक कोई बात कहना। पुं० भूरे रंग का एक प्रकार का गेहूँ।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगा जाल  : पुं० [हिं० गंगा+जाल] रीहा घास का बना हुआ मछुओं का जाल। (बंगाल)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगा-दत्त  : पुं० [तृ० त०] भीष्म पितामह का एक नाम।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगादह  : पुं०=गंगाजली।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगा-द्वार  : पुं० [ष० त०] हरिद्वार।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगा-धर  : पुं० [ष० त०] १. महादेव। शिव। २. समुद्र। ३. वैद्यक में एक प्रकार का रस। ४. एक प्रकार का वर्णवृत्त जिसके प्रत्येक चरण में आठ रगण होते हैं। इसे खंजन और गंगोदक भी कहते हैं।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगाधार  : पुं० [गंगा√धृ (धारण करना)+अण्] समुद्र।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगा-पथ  : पुं० [ष० त०] आकाश। (डिं०)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगा-पाट  : पुं० [हिं० गंगा+पाट] घोड़े की एक भौंरी जो उसके पेट के नीचे होती हैं।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगा-पुजैया  : स्त्री० =गंगा पूजा।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगा-पुत्र  : पुं० [ष० त० ] १. भीष्म। २. पुराणानुसार लेट पिता और तीवरी माता से उत्पन्न एक संकर जाति। ३. ब्राह्मणों की एक जाति जो पवित्र नदियों के किनारे घाटों पर बैठकर अथवा तीर्थस्थानों में रहकर दान लेती है। ४. उक्त जाति का व्यक्ति।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगा-पूजा  : स्त्री० [ष० त०] विवाह के बाद की एक रीति जिसमें वर और वधू को किसी तालाब या नदी के किनारे ले जाकर उनसे पूजा कराई जाती है।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगा-यात्रा  : स्त्री० [मध्य० स० ] १. मरणासन्न व्यक्ति को मरने के लिए गंगा-तट पर या किसी पवित्र जलाशय के किनारे ले जाने की पुरानी प्रथा। २. मृत्यु। स्वर्गवास।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगाराम  : पुं० [हिं० गंगा+राम] तोते को संबोधित करने का एक नाम।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगाल  : पुं० [हिं० गंगा+आलय] पानी रखने का एक प्रकार का बड़ा पात्र। कंडाल।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगाला  : पुं० [हिं० गंगा+आलय] वह भूमि जहाँ तक गंगा के चढ़ाव का पानी पहुँचता है। कछार।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगा-लाभ  : पुं० [ष० त०] मृत्यु। स्वर्गवास।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगावतरण  : पुं० [गंगा-अवतरण, ष० त०] वह अवस्था जिसमें गंगा जी स्वर्ग से उतरकर धरती प आयी थीं। गंगा का स्वर्ग से पृथ्वी पर आना।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगावतार  : पुं० [गंगा-अवतार,ष० त० ] =गंगावतरण।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगावासी(सिन्)  : वि० [सं०गंगा√वस्(बसना)+णिनि] गंगा के तट पर रहनेवाला।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगा-सागर  : पुं० [मध्य० स० ] १. कलकत्ते के पास वह स्थान जहाँ गंगा नदी समुद्र में मिलती है और जो एक तीर्थ माना जाता है। २. एक प्रकार की बड़ी झाड़ी। ३. खद्दर की छपी हुई आठ-नौ हाथ लंभी जनानी धोती।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगा-सुत  : पुं० [ष० त०]=गंगा-पुत्र।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगिका  : स्त्री० [सं० गंगा+कन्+टाप्, इत्व] गंगा नदी।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गँगेऊ  : पुं० [सं० गांगेय] १. भीष्म। २. कार्तिकेय।(यह शब्द केवल स्थानिक रूप में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गँगेटी  : स्त्री० [सं० गंगाटी] दवा के काम आनेवाली एक प्रकार की जड़ी या बूटी।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगेय  : वि० पुं० ==गांगेय।(यह शब्द केवल पद्य में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गँगेरन  : स्त्री० [सं० गांगेरुकी] नागबला नाम का पौधा।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गँगेरुआ  : पुं० [सं० गांगेरुक] एक प्रकार का पहाड़ी वृक्ष।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगेरू  : स्त्री० गँगेरन।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगेश  : पुं० [गंगा-ईश,ष० त० ] महादेव। शिव।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगोझ  : पुं० =गंगोदक।(यह शब्द केवल पद्य में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगोत्तरी  : स्त्री० [सं० गंगावतार] उत्तर भारत का एक प्रसिद्ध तीर्थ जहाँ गंगा नदी ऊँचे पहाड़ों से निकलती है।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगोदक  : पुं० [गंगा-उदक,ष० त०] १.गंगा नदी का जल जो बहुत पवित्र माना जाता है। २. गंगा-धर वर्ण-वृत्त का दूसरा नाम। दे० ‘गंगा-धर’।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगोल  : पुं० [सं०] गोमेदक मणि।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गंगौटी  : स्त्री० [हिं० गंगा+मिट्टी] गंगा के किनारे की मिट्टी या बालू।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गँगौलिया  : पुं० [हिं० गंगाल] एक प्रकार का खट्टा नीबू।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ