गिरना/girana
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

गिरना  : अ० [सं० गलन] १. किसी उच्च स्तर या स्थल पर स्थित वस्तु का अचानक तीव्र गति से जमीन पर आ पड़ना। जैसे–(क) आकाश से हवाई जहाज या तारा गिरना। (ख) छत पर से लड़के का नीचे गिरना। २. किसी ऊँचे स्थान पर बँधी लगी या लटकती हुई वस्तु का अपने आधार से छूट या टूटकर नीचे के स्थल पर आ पड़ना। जैसे–(क) पेड़ से पत्ता या फल गिरना। (ख) कुएँ में बाल्टी गिराना। ३. जमीन को आधार बनाकर उस पर खड़ी होने, बैठने अथवा चलनेवाली वस्तु का जमीन पर पड़ या लेट जाना। जैसे–(क) दीवार या छत गिरना। (ख) कुरसी या मेज गिरना। (ग) चलती हुई गाडी या दौड़ता हुआ लड़का गिरना। पद–गिरता पड़ता या गिर पड़कर=बहुत कठिनाई या मुश्किल से। गिरा-पड़ा(देखें)। ४. किसी धारा या प्रवाह का नदी या समुद्र में मिलना। जैसे–गंगा नदी कलकत्ते के पास समुद्र में गिरती है। ५. किसी उच्च विभाग,श्रेणी स्थिति आदि में आना। नीचे आना। जैसे–तापमान गिरना, पारा गिरना। ६. लाक्षणिक अर्थ में प्रसम स्तर या मान्य आदेश से किसी चीज का अवनति या घटाव पर होना। जैसे–चरित्र गिरना। ७. कारोबार का कम या ठप्प होना। जैसे–बाजार गिरना। ८. किसी वस्तु के मूल्य में उतार या कमी होना। जैसे–चीजों का भाव गिरना। ९. किसी वस्तु को देखने लेने आदि के लिए बहुत से व्यक्तियों का एक साथ आ पहुँचना। जैसे–रासन की दुकान पर ग्राहकों का आ गिरना। १॰. किसी स्थान पर बहुत अधिक भीड़ जमने पर एक दूसरे को धक्के लगाना। जैसे–आदमी पर आदमी गिरना। ११. किसी ऐसे रोग का होना जिसके विषय में लोगों का विश्वास हो कि उसका वेग ऊपर से नीचे को आता है। जैसे–नजला गिरना, फालिज (लकवा) गिरना। १२. सहसा बहुत अधिक मात्रा में उपस्थित या प्राप्त होना। आ पड़ना। जैसे–(क) सिर पर विपत्ति का पहाड़ गिरना। (ख) दिसावर से आकर बाजार में माल गिरना।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गिरनार  : पुं० [सं० गिरि+हिं० नार=नगर] गुजरात में स्थित रैवतक नामक एक पर्वत जो जैनियों का तीर्थ हैं।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
गिरनारी, गिरनाली  : वि० [हिं० गिरनार] गिरनार पर्वत का। गिरनार संबंधी। पुं० गिरनार का निवासी।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ