छँटना/chhantana
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

छँटना  : अ० [हिं० छाँटना] १. किसी वस्तु अथवा उसके किसी अंश का कटकर अलग होना। जैसे–सिर के बाल या पेड़ की डाल छँटना। २. किसी का अपने वर्ग या समूह से अलग होना। जैसे–दल में से चार आदमियों का छँटना। ३. किसी वस्तु में से अतिरिक्त, अनावश्यक या फालतू अंश निकालकर अलग होना। जैसे–कार्यालय से कर्मचारी छँटना। ४. छिन्न-भिन्न या तितर-बितर होना। जैसे–बादल छँटना, भीड़ छँटना। ५. किसी क्रिया के फलस्वरूप कम होना या नष्ट हो जाना। न रह जाना। जैसे–आँख की लाली छँटना, कपड़े की मैल छंटना। ६. चुन कर अच्छी वस्तुएँ अलग रखी जाना। जैसे–ये अनार छँटे हुए हैं। पद–छंटा हुआ=चालाक या धूर्त्त (व्यक्ति)। ७. आकार या मोटाई में कम होना। क्षीण होना।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ