छरन/chharan
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

छरन  : वि० [हिं० छरना=छलना] [स्त्री० छरनि] छलनेवाला। पुं०=क्षरण।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
छरना  : स० [सं० क्षरण] सूप में अनाज आदि छाँटना या फटकना।(यह शब्द केवल स्थानिक रूप में प्रयुक्त हुआ है) अ० १. अनाज आदि का छाँटा या फटका जाना। २. दूर होना। न रह जाना। ३. तरल पदार्थ का कहीं से निकलकर धीरे-धीरे बहना। चूना। टपकना। रसना। स=छलना।(यह शब्द केवल पद्य में प्रयुक्त हुआ है) स०=छड़ना।(यह शब्द केवल पद्य में प्रयुक्त हुआ है) स्त्री० =छलना।(यह शब्द केवल पद्य में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ