ठुमक/thumak
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

ठुमक  : स्त्री० [हिं० ठुमकना] १. ठुमकने की क्रिया या भाव। २. बच्चों युवती स्त्रियों की ऐसी आकर्षक और लुभावनी चाल जिसमें वे कुछ ठिठकती या रुकती हुई चलती हैं। ठसक-भरी चाल।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
ठुमकना  : अ० [अनु०] १. बच्चे का उमंग में आकर धीरे-धीरे पैर पटकने तथा इठलाते हुए चलना। उदाहरण–ठुमुक चलत रामचन्द्र बाजत पैजनिया।–तुलसी। २. नाच में, इस प्रकार धीरे-धीरे पैर पटकते हुए आगे बढ़ना कि पैर के घुँघरु बजते रहे।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
ठुमका  : पुं० [अनु०] [स्त्री० ठुमकी] धीरे से किया जाने वाला आघात या दिया जानेवाला झटका। जैसे–पतंग उड़ाने के समय उसे ठुमका देना। क्रि० प्र०–देना।–लगाना। वि० [स्त्री० ठुमकी] दे० ‘ठिगना’।(यह शब्द केवल स्थानिक रूप में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
ठुमकारना  : स० [हिं० ठुमका](पतंग की डोरी को) ठुमका देना।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
ठुमकी  : स्त्री० [देश०] १. ठुमककर चलने की अवस्था, क्रिया या भाव। २. धीरे से किया जानेवाला आघात। थपकी। ३. दे० ठुमका। ४. एक प्रकार की छोटी खरी पूरी (पकवान)।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ