डाँट/daant
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

डाँट  : स्त्री० [सं० दान्ति-दमन, वश] १. किसी को डाँटने या डपटने की क्रिया या भाव। २. क्रोध में आकर कही जानेवाली ऐसी कड़ी बात जो भविष्य में किसी को सचेत रखने के लिए कही जाय क्रि० प्र०–बताना। ३. उक्त प्रकार की बातें करते हुए किसी की उच्छृंखलता उद्दंडता आदि नियंत्रित रखने के लिए उसके साथ किया जानेवाला आतंकपूर्ण व्यवहार। जैसे–लड़कों को डाँट में रखना। क्रि० प्र०–मानना। मुहावरा–किसी को डाँट में रखना=वश या शासन में रखना।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
डाँटना  : स० [हिं० डाँट से] क्रोध में आकर किसी दोषी को कोई कड़ी बात ऊंचे स्वर में कहना। सं० क्रि०–देना।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ