डाल/daal
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

डाल  : स्त्री० [सं० दारु-लकड़ी] १. पेड़-पौधे आदि के तने में से निकला हुआ बड़ा अंश जिसमें फल, फूल आदि लगते हैं। टहनी। शाखा। पद–डाल का टूटा=(क) डाल से पक कर गिरा हुआ (फल)। (ख) बिलकुल तुरंत या हाल का। बिलकुल नया आया हुआ। ताजा। जैसे–डाल का टूटा हुआ स्नातक। (ग) जिसे अभी तक विशेष ज्ञान या अनुभव न हुआ हो। (घ) अनोखा। विलक्षण। डाल का पका=(फल) जो पेड़ की डाल में लगे रहने की दशा में पका हो। उससे उतारकर पाल में न पकाया गया हो। २ किसी चीज में से निकली हुई उक्त आकार-प्रकार की कोई शाखा। जैसे–झाड़ या फानूस की डाल जिसमें गिलास लगाये जाते हैं। ३. तलवार का फल जो शाखा के रूप में आगे की ओर निकला रहता है। ४. मध्य भारत और मारवाड़ में पहने जानेवाला एक प्रकार का गहना। स्त्री० [सं० डलक, हिं० डला] १. फल-फूल आदि रखने की डलिया। चँगेरी। २. वे कपड़े, गहने, फल आदि जो विवाह के समय किश्चियों, चँगरों आदि में सजाकर लड़कीवालों के यहाँ वधू के लिए भेजे जाते हैं।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
डालना  : स० [हिं० तलन] १. किसी आधान या पात्र में कोई चीज कुछ ऊँचाई से गिराना, छोड़ना, फेंकना या रखना। जैसे–(क) गिलास में पानी डालना। (ख) कड़ाही में घी डालना। २. किसी आधान या पात्र में कोई चीज प्रायः सुरक्षा के उद्देश्य से भरना या रखना। जैसे–(क) झोले में पुस्तकें या बोरे में गेहूँ डालना। (ख) संदूक में कपड़े डालना। (ग) कैदी को जेल में डालना। ३. कोई चीज किसी आधार या तल पर गिराना, छोडना, या फेंकना। जैसे–(क) पेड़ की जड़ में पानी डालना। (ख) सिर या बालों में तेल डालना। ४. कोई चीज किसी को देने या सौंपने के उद्देश्य से उसके आगे रखना या गिराना। जैसे–(क) विजयी के आगे हथियार डालना। (ख) कुत्ते या बिल्ली को रोटी डालना। ५. लाक्षणिक अर्थ में, कोई काम या बात किसी के जिम्मे करना। जैसे–किसी पर खरच या काम का बोझ डालना। ६. कोई चीज किसी को पहनाना। जैसे–(क) हाथ में चूड़ियाँ या पैर में जूता डालना। (ख) कन्या का वर के गलें में जय-माल डालना। ७. कोई चीज किसी पर से या किसी में लटकाना। जैसे–(क) पेड़ की डाली पर झूला डालना। (ख) पानी निकालने के लिए कुएँ में बाल्टी डालना। ८. कोई चीज किसी में लगाना। जैसे–आँखों में काजल या सुरमा लगाना। ९. घुसाना। घुसेड़ना। १॰. किसी चीज को ढकने के लिए उसके ऊपर कोई दूसरी चीज फैलाना। जैसे–(क) सिर पर चादर डालना। (ख) आग पर पानी या राखी डालना। ११. वस्त्र आदि फैलाना। जैसे–(क) बिछे हुए गद्दे पर चादर डालना। (ख) टंगने पर सूखने के लिए गीली धोती डालना। १२. (स्त्री को रखेली के रूप में) घर में रख लेना। १३. परित्याग करना। १४. पशुओं के संबंध में गर्भपात करना। १५. किसी मद या विभाग में सम्मिलित करना। जैसे–खाते में किसी के नाम रकम डालना। विशेष–संयोज्य किया के रूप में ‘डालना’ कुछ सकर्मक क्रियाओं के साथ लगकर यह सूचित करता है कि कर्ता वह काम या क्रिया पूरी तरह से समाप्त करके उससे अलग या निवृत्त हो चुका है अथवा वह काम या चीज उसमें अपने से बिलकुल अलग या दूर कर दी है। जैसे–खा डालना, दे डालना, बेच डालना, मार डालना आदि।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
डालर  : पुं० [अं०] एक अमेरिकन सिक्का जो भारतीय ३ रुपयों से कुछ अधिक मूल्य का होता है।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
डाला  : पुं० [हिं० डला] बड़ी चँगेर या डलिया।(यह शब्द केवल स्थानिक रूप में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
डाला छठ  : स्त्री० [हिं०] कार्तिक शुक्ला छठ, जिस दिन बड़ी चँगेर में फल आदि रखकर उदित होते हुए सूर्य की पूजा की जाती है।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
डालिम  : पुं०=दाडिम (अनार)।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
डाली  : स्त्री० [हिं० डाला या डला] १. छोटा डला या डाला। डलिया। २. वह डलिया जिसमें कोई चीज विशेषतः फल फूल मिठाइयाँ आदि रखकर किसी के यहाँ उपहार या भेंट स्वरूप भेजी जाती हैं। ३. उक्त प्रकार से भेजा जानेवाला उपहार या भेंट। क्रि० प्र०–भेजना।–लगाना। ४. दाँई हुई फसल का अनाज या हवा में उड़ाकर भूसे से अलग करने की क्रिया या भाव। ओसाने या बरसाने की क्रिया या भाव। क्रि० प्र०–देना। स्त्री० [हिं० डाल] वृक्ष की छोटी या पतली टहनी।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ