तरना/tarana
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

तरना  : अ० [सं० तरण] १. पानी के तल के ऊपर रहना। ड़ूबना का विपर्याय २. अंगो के संचालन अथवा किसी अन्य शारीरिक व्यापार के द्वारा जल को चीरते हुए आगे बढ़ना। तैरना। ३. आवागमन या सांसारिक बंधनों से मुक्त होना। सदगति प्राप्त करना। ४. व्यापारिक क्षेत्रों में, ऐसी रकम का वसूल होना या वसूल हो सकने के योग्य होना जो प्रायः डूबी हुई समक्ष ली गई हो। जैसे–वे मुकदमा जीत गये हैं, इसलिए हमारी रकम भी तर गई। स० माल ढोनेवाले जहाजों का वह अधिकारी जो रास्ते में व्यापारिक कार्यों की देख-रेख और व्यवस्था करता है। अ० दे० ‘तलना’।(यह शब्द केवल स्थानिक रूप में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तरनाग  : पुं० [देश०] एक तरह की चिड़िया।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तरनाल  : पुं० [?] पुरानी चाल के जहाजों में लगा रहनेवाला वह रस्सा जिससे पाल को धरन में बाँधते थे (लश०)।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ