तरन-तारन/taran-taaran
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

तरन-तारन  : पुं० [सं० तरण, हिं० तरना] १. उद्धार। २. वह जो भव सागर से किसी को पार उतारता हो। ईश्वर। वि० १. डूबते हुए को तारने या उबारनेवाला। २. भवसागर से पार करनेवाला।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ