तरसान/tarasaan
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

तरसान  : अ० [सं० तर्षण] अभीष्ट तथा प्रिय वस्तु के अभाव के कारण दुःखी या निराश व्यक्ति का उसके दर्शन या प्राप्ति के लिए लालायित या विकल होना। जैसे–(क) किसी को मिलने के लिए अथवा कुछ खाने के लिए मन तरसना। (ख) प्रिय को मिलने के लिए आँखें तरसना [सं० त्रसन] त्रस्त या पीड़ित होना। स० त्रस्त या पीड़ित करना।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तरसान  : पुं० [सं०] नौका।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तरसाना  : स० [हिं० तरसना का प्रे०] १. ऐसा काम करना जिससे कोई तरसे। २. किसी प्रकार के अभाव का अनुभव कराते हुए किसी को ललचाना। आसा दिलाकर या प्रवृत्ति उत्पन्न करके खिन्न या दुःखी करना। संयो० क्रि०–डालना।–मारना।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ