तलव/talav
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

तलव  : पुं० [सं० तल√वा (गति)+क] गानेवाला। गवैया।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तलव-कार  : पुं० [ष० त०] १. सामवेद की एक शाखा। २. एक उपनिषद्।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तलवा  : पुं० [सं० तल] पैर के बिलकुल नीचे का चिपटा अंश जोखड़े होने और चलने के समय जमीन पर पड़ता है। पद–तल। मुहावरा–तलवा (या तलवे) खुजलाना=तलवे (या तलवों) में खुजली होना जो लोक में इस बात का सूचक माना जाता है कि शीघ्र ही कोई यात्रा करनी पड़ेगी या कहीं बाहर जाना पड़ेगा। तलवा (या तलवे) न टिकना=एक जगह कुछ देर न बैठे रहा जाना। बराबर इधर-उधर आते-जाते या घूमते रहना। चलते-चलते तलवे चलनी या छलनी होना=इतनी अधिक दौड़-धूप करना कि पैरों में दम न रह जाय। (किसी के) तलवे चाटना=किसी को प्रसन्न करने के लिए उसकी छोटी-सी छोटी सेवाएँ करना। (किसी के) तलवे धो-धो कर पीना=अत्यन्त सेवा-शुश्रुवा करना। अत्यन्त प्रेम प्रकट करना। (किसी के) तलवे सहलाना=प्रसन्न करने के लिए बहुत ही दीन बनकर सभी तरह की सेवाएं करना। (कोई चीज) तलवों तले मेटना=कुचल कर नष्ट कर देना। रौंद डालना। (स्त्री०)। (कोई बात) तलवों तले मेटना=पूरी तरह से अवज्ञा या उपेक्षा करना। तुच्छ या हेय समझना। (किसी के) तलवों से आँखें मलना=दीन भाव से बहुत अधिक आदर-सत्कार और सेवा-सुश्रुषा करना। (कोई चीज) तलवों से मलना=पैरों से कुचल या रौंदकर नष्ट करना। (कोई बात देख या सुनकर) तलवों से लगना, सिर में जाकर बुझना=इतना अधिक क्रोध चढ़ना कि मानों सारा शरीर जल रहा हो। नीचे से ऊपर तक सारा शरीर जल जाना। (कभी-कभी इस मुहावरे का संक्षिप्त रूप होता है–तलवों से लगना, जैसे–उसकी बातें सुनकर मुझे तो तलवों से (आग) लग गई)।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तलवार  : स्त्री० [सं० तलवारि] लोहे का एक लंबा धारदार प्रसिद्ध हथियार जिसके आघात से प्राणियों के अंग काटकर अलग किये जाते अथवा सिर काटकर उनकी हत्या की जाती है। मुहावरा–तलावर करना=तलवार की सहायता से युद्ध या वार करना। तलवार चलाना। तलवार कसना=तलवार का फल झुकाकर उसके लोहे की उत्तमता की परीक्षा करना। (किसी को) तलवार का पानी पिलाना=तलवार से आघात या वार करना। तलवार की छाँह (या छाहों) में=ऐसी स्थिति में जहाँ चारों ओर अपने सिर पर नंगी तलवारें ही दिखाई देती हों। (किसी को) तलवार के घाट उतारना-तलवार का आघात करके प्राण लेना। तलवार खींचना=आघात या वार करने के लिए म्यान से तलवार बाहर निकालना। तलवार तौलना=भरपूर वार करने के लिए तलवार ठीक ढंग से ऊपर उठाना। तलवार पर हाथ रखना (या ले जाना) तलवार से वार या आघात करने को उद्यत होना। तलवार बाँधना=इस उद्देश्य से तलवार सदा अपनी कमर में लटकाये रखना कि जब आवश्यकता हो, तब उसका उपयोग किया जा सके। तलावर सौंतना-तलवार तौलना। (देखें ऊपर)। पद–तलवार का खेत=लड़ाई का मैदान। युद्ध-क्षेत्र। तलवार का छाला-तलवार के फल पर उभरा हुआ चिन्ह या दाग। तलवार का डोरा=तलवार की धार या बाढ़ जो डोरे या सूत की तरह जान पड़ती है। तलवार का पट्टा या पट्ठा=तलवार का चौड़ा फल। तलावर का पानी=तलवार की चमकीली रंगत जो उसके बढ़िया होने की सूचक होती है। तलवार का फल=मूठ के आगे का सारा भाग। तलवार का बल=तलवार के फल का टेढ़ापन जो काट करने में सहायक होता है। तलवार का बाट=तलवार में वह स्थान जहां से इसका टेढ़ापन आरंभ होता है। तलवार का मुँह=तलवार की धार। तलवार का हाथ=(क) तलवार का आघात। (ख) तलवार चलाने का ढंग या प्रकार। तलवार की आँच=तलवार का आघात या वार। तलवार की माला=तलवार की मूठ और फल का वह जोड़ जो दुंबाले के पास होता है।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तलवारिया  : पुं० [हिं० तलवार] वह व्यक्ति जो अच्छी तरह तलवार चलाना जानता हो।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तलवारी  : वि० [हिं० तलवार] तलवार संबंधी। जैसे–तलवारी हाथ।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ