तलवार/talavaar
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

तलवार  : स्त्री० [सं० तलवारि] लोहे का एक लंबा धारदार प्रसिद्ध हथियार जिसके आघात से प्राणियों के अंग काटकर अलग किये जाते अथवा सिर काटकर उनकी हत्या की जाती है। मुहावरा–तलावर करना=तलवार की सहायता से युद्ध या वार करना। तलवार चलाना। तलवार कसना=तलवार का फल झुकाकर उसके लोहे की उत्तमता की परीक्षा करना। (किसी को) तलवार का पानी पिलाना=तलवार से आघात या वार करना। तलवार की छाँह (या छाहों) में=ऐसी स्थिति में जहाँ चारों ओर अपने सिर पर नंगी तलवारें ही दिखाई देती हों। (किसी को) तलवार के घाट उतारना-तलवार का आघात करके प्राण लेना। तलवार खींचना=आघात या वार करने के लिए म्यान से तलवार बाहर निकालना। तलवार तौलना=भरपूर वार करने के लिए तलवार ठीक ढंग से ऊपर उठाना। तलवार पर हाथ रखना (या ले जाना) तलवार से वार या आघात करने को उद्यत होना। तलवार बाँधना=इस उद्देश्य से तलवार सदा अपनी कमर में लटकाये रखना कि जब आवश्यकता हो, तब उसका उपयोग किया जा सके। तलावर सौंतना-तलवार तौलना। (देखें ऊपर)। पद–तलवार का खेत=लड़ाई का मैदान। युद्ध-क्षेत्र। तलवार का छाला-तलवार के फल पर उभरा हुआ चिन्ह या दाग। तलवार का डोरा=तलवार की धार या बाढ़ जो डोरे या सूत की तरह जान पड़ती है। तलवार का पट्टा या पट्ठा=तलवार का चौड़ा फल। तलावर का पानी=तलवार की चमकीली रंगत जो उसके बढ़िया होने की सूचक होती है। तलवार का फल=मूठ के आगे का सारा भाग। तलवार का बल=तलवार के फल का टेढ़ापन जो काट करने में सहायक होता है। तलवार का बाट=तलवार में वह स्थान जहां से इसका टेढ़ापन आरंभ होता है। तलवार का मुँह=तलवार की धार। तलवार का हाथ=(क) तलवार का आघात। (ख) तलवार चलाने का ढंग या प्रकार। तलवार की आँच=तलवार का आघात या वार। तलवार की माला=तलवार की मूठ और फल का वह जोड़ जो दुंबाले के पास होता है।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तलवारिया  : पुं० [हिं० तलवार] वह व्यक्ति जो अच्छी तरह तलवार चलाना जानता हो।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तलवारी  : वि० [हिं० तलवार] तलवार संबंधी। जैसे–तलवारी हाथ।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ