तीक्ष्णा/teekshna
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

तीक्ष्णांशु  : पुं० [तीक्ष्ण-अंशु, ब० स०] सूर्य।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तीक्ष्णा  : स्त्री० [सं० तीक्ष्ण+टाप्] १. बच। २. केवांच। कौंछ। ३. बड़ी माल-कंगनी। ४. मिर्च। ५. सर्पकाली नामक पौधा। ६. अत्यम्लपर्णी नाम की लता। ७. जोंक। ८. तारा देवी के एक नाम।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तीक्ष्णाग्नि  : स्त्री० [तीक्ष्ण-अग्नि, कर्म० स०] १. प्रबल जठराग्नि। २. अजीर्ण या अपच नाम का रोग।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तीक्ष्णाग्र  : वि० [तीक्ष्ण-अग्र, ब० स०] १. प्रबल जठराग्नि। २. अजीर्ण या अपच नाम का रोग।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तीक्ष्णायस  : वि० [तीक्ष्ण-आयस, कर्म० स०] इस्पात। लोहा।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ