तीव्रा/teevra
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

तीव्रा  : स्त्री० [सं० तीव्र+टाप्] १. षडज स्वर की चार श्रुतियों में से पहली श्रुति। २. खुरासानी। अजवायन। ३. राई। ४. गाँडर दूब। गंड-दूर्वा। ५. तुलसी। ६. कुटकी। ७. बड़ी मालकंगनी। ८. तरवी नामक वृक्ष।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तीव्रानन्द  : पुं० [तीव्र-आनन्द,ब०स०] शिव। महादेव।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तीव्रानुराग  : पुं० [तीव्र-अनुराग,कर्म०स०] १.किसी वस्तु के प्रति होनेवाला अत्यधिक अनुराग। २. उक्त प्रकार का अनुराग जो जैनों में अतिचार माना जाता है।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ