तेह/teh
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

तेह  : पुं० [सं० तस्-तिरस्कृत करना, दूर हटाना] १. क्रोध। गुस्सा। तेहा। २. अभिमान। घमंड। ३. तेजी। तीव्रता। ४. प्रचंडता।(यह शब्द केवल स्थानिक रूप में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेहर  : स्त्री० [सं० त्रि+हिं० हार] तीन लड़ों की करधनी जो स्त्रियाँ कमर में पहनती है।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेहरा  : वि० [हिं० तीन+हरा] [स्त्री० तेहरी] १. तीन तहों या परतों में लपेटा हुआ। २. जिसमें तीन तहें या परतें हो। ३. जो दो बार हो चुकने के बाद फिर से तीसरी बार करना पड़े या किया गया हो। जैसे–तेहरा काम, तेहरी मेहनत। ४. जो एक साथ तीन हों। ५. तिगुना। (क्व०)।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेहराना  : स० [हिं० तेहरा] १. लपेटकर तीन तहों या परतों में करना। २. कोई काम दो बार कर चुकने के बाद कोर-कसर ठीक करने के लिए फिर से तीसरी बार करना, जाँचनाया देखना।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेहवार  : पुं०=त्योहार।(यह शब्द केवल स्थानिक रूप में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेहा  : पुं० [सं० तस्-तिरस्कृत या दूर करना] १. अपने अभिमान, बड़प्पन, महत्त्व आदि की भावना से उत्पन्न होनेवाला ऐसा हलका क्रोध या गुस्सा हो २. क्रोध। गुस्सा। ३. अभिमान। घमंड।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेहि  : सर्व० [सं० ते] उसे। उसको।(यह शब्द केवल स्थानिक रूप में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेही  : पुं० [हिं० तेह+ई (प्रत्यय)] १. जिसमें तेहा हो या जो तेहा दिखलाता हो। क्रोधी। २. अभिलाषा घमंडी।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेहेदार  : पुं०=तेही।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
तेहेबाज  : पुं०=तेही।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ