बंका/banka
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

बका  : स्त्री० [अ० बका] १. नित्यता। २. अनश्वरता। ३. अस्तित्व में बने रहना। ४. जीवन।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बकाइन  : पुं०=बकायन (वृक्ष)। (यह शब्द केवल स्थानिक रूप में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बकाउ  : स्त्री०=बकावली। (यह शब्द केवल स्थानिक रूप में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बकाउर  : स्त्री०=बकावली। (यह शब्द केवल स्थानिक रूप में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बकाना  : स० [हिं० बकना का प्रे० रूप०] १. किसी को बकने में प्रवृत्त करना। २. किसी को दबाकर उसके मन की छिपी हुई बात कहलाना।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बकायन  : पुं० [हिं० बड़का+नीम ?] नीम की जाति का एक पेड़ जिसकी पत्तियाँ नीम की पत्तियों के समान तथा कुछ बड़ी और दुर्गन्धयुक्त होती है। महानिंब।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बकाया  : वि० [अ० बक़ायः] बाकी बचा हुआ। अवशिष्ट। शेष। पुं० १. वह धन जो किसी की ओर निकल रहा हो। ऐसा धन जिसका भुगतान अभी होने को हो। २. बचा हुआ धन। बचत। ३. किसी काम या बात का वह अंश जिसका अभी संपादन होना शेष हो।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बकारि  : पुं० [सं० बक-अरि, ष० त०] बकासुर के शत्रु अर्थात् श्रीकृष्ण।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बकारी  : स्त्री० [सं० वकार या वाक्य] वह शब्द जो मुँह से प्रस्फुटित् हो। मुँह से निकलनेवाला शब्द। क्रि० प्र०—निकलना।—फूटना। स्त्री०=बिकारी। (यह शब्द केवल स्थानिक रूप में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बकावर  : स्त्री०=बकावली। (यह शब्द केवल स्थानिक रूप में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बकावली  : स्त्री० [सं० बक-आवली, ष० त०] १. बगुलों की पंक्ति। बक-समूह। २. दे० ‘गुल-बकावली’ (पौधा और फूल)।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बकासुर  : पुं० [सं० बक-असुर, मध्य० स०] एक दैत्य जिसे श्रीकृष्ण ने मारा था।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ