बलि/bali
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

बलिदम  : पुं० [सं० बलि√दम् (दमन करना)+खुश, मुम्] विष्णु।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बलि  : पुं० [सं०√बल (देना)+इन्] १. प्राचीन भारत में (क) भूमि की उपज का वह छठा अंश जो भूस्वामी प्रतिवर्ष राजा को देता था। राजकर। (ख) वह कर जो राजा अपने धार्मिक कृत्यों के लिए प्रजा से लेता था। २. वह अंश या पदार्थ जो किसी देवता के लिए अलग किया गया हो या निकालकर रखा गया हो। ३. देवताओं के आगे रखा जानेवाला भोजन। नैवेद्य। भोग। ४. देवताओं पर चढ़ाई जानेवाली चीजें। चढ़ावा। ५. देवताओं के पूजन की सामग्री। ६. वह पशु जो किसी देवता या अलौकिक शक्ति को प्रसन्न तथा संतुष्ट करने के लिए उसके सामने या उसके उद्देश्य से मारा जाता हो। क्रि० प्र०—चढ़ाना।—देना। २. वह स्थिति जिसमें कोई व्यक्ति अपने प्राण या शरीर तक किसी काम, बात या व्यक्ति के लिए पूर्ण रूप से अर्पित कर देता है। मुहा०—(किसी पर) बलि जाना=किसीके महत्त्व, मान आदि का ध्यान करते हुए अपने आपको उस पर निछावर करना। बलिहारी होना। उदा०—तात जाऊँ बलि वेगि नहाहू।—तुलसी। ८. पंच महायज्ञों में से भूत यज्ञ नामक चौथा महायज्ञ। ९. उपहार। भेंट। १॰. खाने-पीने की चीज। खाद्य सामग्री। ११. चैवर का डंडा। १२. आठवें मन्वन्तर में होनेवाले इन्द्र का नाम। १३. प्रह्लाद का पौत्र और विरोचन का पुत्र जो दैत्यों का राजा था, जिसे विष्णु ने वामन अवतार धारण करके छलपूर्वक बाँध लिया था और ले जाकर पाताल में रख दिया था। स्त्री० १. शरीर के चमड़े पर पड़नेवाली झुर्री। २. बल। शिकन। ३. एक प्रकार का फोड़ा जो गुदार्वत के पास अर्श आदि रोगों में उत्पन्न होता है। ४ बवासीर का मसा। स्त्री० [सं० बला=छोटी बहन] सखी। उदा०—ए बलि ऐसे बलम को विविध भाँति बलि जाऊँ।—पद्माकर।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बलि-कर  : वि० [सं० बलि√कृ (करना)+अच्] १. बलि चढ़ानेवाला। २. कर या राजस्व देनेवाला। ३. शरीर में झुर्रियाँ उत्पन्न करनेवाला।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बलि-कर्म (न्)  : पुं० [सं० ष० त०] बलि देने या चढ़ाने का काम।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बलित  : भू० कृ० [हिं० बलि] (पशु) जो बलि चढ़ाया गया हो।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बलि-दान  : पुं० [सं० ष० त०] [वि० बलिदानी] १. देवताओं आदि को प्रसन्न करने के लिए उनके उद्देश्य से किसी पशु का किया जानेवाला वध। २. किसी उद्देश्य या बात की सिद्धि के लिए अपने प्राण तक दे देना। जैसे—देश-सेवा के लिए अपने आपको बलिदान करना। पद—बलिदान का बकरा-ऐसा व्यक्ति जिस पर किसी काम या बात का व्यर्थ ही सारा अपराध या दोष लाद दिया जाय, और तब उसे पूरा-पूरा दंड दिया जाय। (प्रायः अपने आपको उस अपराध या दोष का भागी बनाने के लिए)।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बलिदानी  : वि० [सं० बलिदान] १. बलिदान-संबंधी। बलिदान का। जैसे—बलिदानी परम्परा, बलिदानी बकरा। २. बलिदान करने या चढ़ानेवाला। स्त्री०=बलिदान।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बलिद्विट् (ष्)  : पुं० [सं० बलि√द्विष् (बैर करना)+क्विप्] विष्णु।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बलिध्वंसी(सिन्)  : पुं० [सं० बलि√ध्वंस (नाश)+णिनि] विष्णु।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बलि-नंदन  : पुं० [सं० ष० त०] बाणासुर।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बलि-पशु  : पुं० [सं० मध्य० स०] वह पशु जो यज्ञ आदि में अथवा किसी देवता को संतुष्ट तथा प्रसन्न करने के लिए उसके नाम पर मारा जाता हो।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बलि-पुष्ट  : पुं० [तृ० त०] कौआ।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बलि-प्रदान  : पुं० [सं० ष० त०]=बलि-दान।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बलि-प्रिय  : पुं० [सं० बलि√प्री+क०] १. लोध का पेड़। २. कौआ।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बलि-बंधन  : पुं० [सं० बलि√बंध्(बाँधना)+णिच्+युच्—अन] विष्णु, जिन्होने राजा बलि को बाँधा था।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बलिभुज् (ज्)  : पुं० [सं० बलि√भुज्+क्विप्] कौआ।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बलिभुज्  : पुं० [सं० ] बलि-भुज् का वह रूप जो उसे सम्बोधन कारक में प्रयुक्त होने पर प्राप्त होता है। उदाहरण—किन्तु कौन पा सकता बलिभुज् अमिट कामना पर जाय।—पंत।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बलिभृत्  : [सं० बलि√भृ (भरण करना)+क्विप्, तुक्] १. बलि अर्थात् राज-कर देनेवाला। २. अधीनस्थ।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बलिभोजी (जिन्)  : पुं० [सं० बलि√भुज् (खाना)+णिनि] कौआ।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बलि-मंदिर  : पुं० [ष० त०] राजा बलि के रहने का स्थान, पाताल लोक।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बलि-मुख  : पुं० [ब० स०]=बलि-मंदिर।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बलि-वैश्यदेव  : पुं० [कर्म० स०] पंच महायज्ञों मे से भूतयज्ञ नाम का चौथा महायज्ञ।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बलिश  : पुं० [सं० बलि√शो (पैना करना)+क] मछली फँसाने की कटिया। बंसी।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बलिष्ठ  : वि० [सं० बलिन्+इष्ठन्] जो सबसे अधिक बलवान हो। पुं० ऊंट।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बलिष्ठ  : वि० [सं०√वल् (संवरण)+इष्णुच्] अपमानित।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बलिहरण  : पुं० [ष० त०] सब प्रकार के जीवों को बलि देना।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बलिहारना  : स० [हिं० बलि+हारना] को चीज किसी पर से न्यौछावर करना। जैसे—जान बलिहारना।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बलिहारी  : स्त्री० [हिं० बलि+हारना] बलिहारने अर्थात् न्यौछावर करने की क्रिया या भाव। कुर्बान करना। मुहावरा—बलिहारी जाना=न्यौछावर होना। बलिहारी लेना=बलाएँ लेना। (दे० बला के अन्तर्गत)। पद—बलिहारी हैं=मैं इतना मोहित या प्रसन्न हूँ कि अपने को न्यौछावर करता हूँ। वाह वाह क्या बात है।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बलिहृत  : वि० [सं० बलि√हृ (हरण करना)+क्विप्, तुक्] १. बलिया भेट लानेवाला। २. कर देनेवाला। पुं० राजा।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ