बहुब्रीहि/bahubreehi
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

बहुब्रीहि  : पुं० [सं० ब० स०] व्याकरण में समास का वह प्रकार जिसमें समस्त पदों के योगार्थ से भिन्न कोई अन्य अर्थ ग्रहण किया जाता है। जैसे—बहुबाहू (रावण) चन्द्रमौलि (शिव)।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ