बाप/baap
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

बाप  : पुं० [सं० वाप=बीज बोनेवाला] पिता। जनक। पद—बाप का=पैतृक। बाप-दादा=पूर्व-पुरुष। पूर्वज। बाप-माँ=सब सब प्रकार से पालन और रक्षण करनेवाला। जैसे—सरकार बाप-माँ हैं, जो चाहें सो कहें। बाप रे !=बहुत अधिक आश्चर्य, भय, संकट आदि के समय कहा जानेवाला पद। मुहा०—(किसी का) बाप-दादा बखानना=किसी के बाप-दादा के दुर्गुण बतलाते हुए उन्हें गालियाँ देना और उनकी निदा करना। (किसी को) बाप बनाना=(क) बहुत अधिक आदरपूर्वक अपना पूज्य और बड़ा बनाना। (ख) अपना काम निकालने के लिए खुशामद करते हुए बहुत आदर-सम्मान प्रकट करना।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बापा  : पुं०=बप्पा।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बापिका  : स्त्री० वापिका (बावली)।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बापी  : स्त्री०=वापी (बावली)।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बापु  : पुं०=वाप।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बापुरा  : वि० [?] [स्त्री० बापुरी] १. जिसकी कोई गिनती न हो। तुच्छ। हीन। २. जिसकी देख-रेख करने, बात पूछने या रक्षा करनेवाला कोई न हो। बेचारा।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बापू  : पुं० [फा० बाप] १. बाप। पिता। २. पिता तुल्य कोई वृद्ध पुरुष। ३. महात्मा गांधी के लिए प्रयुक्त होनेवाला एक आदरसूचक शब्द।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बापूकारना  : स० [हिं० बापू+कारना (प्रत्य०)] ‘बापू’ कहकर ललकारना। (राज०) उदा०—बेली तदि बालभद्र बापूकारे।—प्रिथीराज।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बापोती  : स्त्री०=बपौती।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ