बालक/baalak
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

बालक  : पुं० [सं० बाल+कन्] [स्त्री० बालिका, भाव० बालकता] १. वह जिसकी अवस्था अभी-अभी १५-१६ वर्ष से अधिक न हो। बच्चा। लड़का। २. पुत्र। बेटा। ३. वह जो किसी बात या विषय में अनजान या अबोध हो। ४. हाथी का बच्चा। उदाहरण—बालक मृणालिन ज्यौ तोरि डारै सब काल कठिन कराल त्यौं अकाल दीह दुखकौ।—केशव। ५. घोड़े का बच्चा। बछेड़ा। ६. केश। बाल। ७. हाथी की दुम। ८. कंगन। ९. अँगूठा। १॰. नेत्र-बाला। गन्ध-बाला।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बालकता  : स्त्री० [सं० बालक+तल्+टाप्] बालक होने की अवस्था या भाव।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बालकताई  : स्त्री० [सं० बालकता+हिं० ई (प्रत्यय)] १. बाल्यावस्था, लड़कपन। २. बालकों की तरह ऐसा आचरण या व्यवहार जिसमें समझदारी कुछ भी न हो या बहुत कम हो। लड़कपन। (यह शब्द केवल स्थानिक रूप में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बालकपन  : पुं० [सं० बालक+हिं० पन (प्रत्यय)] १. बालक होने की अवस्था या भाव। २. बालकों की तरह की ना-समझी।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बालक-प्रिया  : स्त्री० [सं० ष० त०] १. केला। २. इंद्रवारुणी। (यह शब्द केवल स्थानिक रूप में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बालकांड  : पुं० [सं० मध्य० स०] रामचरित्र मानस का प्रथम प्रकरण जिसमें मुख्य रूप से भगवान रामचन्द्र जी की बाललीला का वर्णन है।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बालकी  : स्त्री० [सं० बालक+ङीष्] १. कन्या। लड़की। २. पुत्री। बेटी।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बालकृमि  : पुं० [सं० ष० त०] जूँ।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ