बाहु/baahu
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

बाहु  : स्त्री० [सं०√बाध्+कु, ह-आदेश] भुजा। बाँह।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बाहुक  : पुं, ० [सं० ०] १. राजा नल का उस समय का नाम जब वे अयोध्या के राजा के सारथी थे २. नकुल का एकनाम। वि०=वाहक।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बाहु-कुब्ज  : वि० [ब० स०] जिसके हाथ कुबड़े या टेढ़े हो। लूला।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बाहुगुण्य  : पुं० [पुं० बहुगुण+ष्यञ्] १. बहु-गुण होने की अवस्था या भाव। बहुत से गुणों का होना।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बाहुज  : पुं० [सं० बाहु√जन्+ड] क्षत्रिय जिनकी उत्पत्ति ब्रह्मा के हाथ मे मानी जाती है। वि० बाहु से उत्पन्न या निकला हुआ।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बाहुजन्य  : वि० [सं० बहुजन+ष्यञ्] जो बहुजन अर्थात् बहुत बड़े जनसमाज में फैला अथवा उससे संबंध रखता हो। बहुजन संबंधी।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बाहुटा  : पुं० [सं० बाहु] बाँह पर पहनने का बाजूबंद (गहना)।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बाहुडना  : अ०=बहुरना। (यह शब्द केवल स्थानिक रूप में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बाहुड़ि  : अव्य०=बहुरि। (यह शब्द केवल स्थानिक रूप में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बाहु-त्राण  : पुं० [ब० स०] चमड़े या लोहे आदि का वह दस्ताना जो युद्ध में हाथों की रक्षा के लिए पहना जाता है।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बाहुदंती (तिन्)  : पुं० [सं० बहु-दंत, ब० स०+अण्(स्वार्थे)+इनि] इंद्र।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बाहुदा  : स्त्री० [सं०] १. महाभारत के अनुसार एक नदी। २. राजा परीक्षित् की पत्नी।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बाहु-पाश  : पुं० [सं० कर्म० स०] दोनों बाहों को मिलाकर बनाया हुआ वह घेरा जिसमें किसी को लेकर आलिंगन करते हैं। भुज-पाश।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बाहु-प्रलंब  : वि० [सं० ब० स०] जिसकी बाँहें बहुत लंबी हों। आजानु-बाहु।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बाहु-भूषण  : पुं० [ष० त०] भुज-बंद नाम का गहना।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बाहु-मूल  : पुं० [ष० त०] कंधे और बाँह का जोड़।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बाहु-युद्ध  : पुं० [ष० त०] कुश्ती।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बाहु-योधी (धिन्)  : पुं० [सं० बाहु√युध्+णिनि] कुश्ती लड़नेवाला। पहलवान।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बाहुरना  : अ०=बहुरना।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बाहुरूप्य  : पुं० [सं० बहुरूप+ष्यञ्] बहुरूपता।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बाहुल  : पुं० [सं० बहुल+अण्] १. युद्ध के समय हाथ में पहनने का एक उपकरण जिससे हाथ की रक्षा होती थी। दस्ताना। २. कार्तिक मास ३. अग्नि। आग।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बाहुल-ग्रीव  : पुं० [सं० ब० स०] मोर।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बाहुल्य  : पुं० [सं० बहुल+ष्यञ्] बहुल होने की अवस्था या भाव। बहुतायत। अधिकता। ज्यादती।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बाहु-विस्फोट  : पुं० [सं० ष० त०] ताल ठोंकना।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बाहु-शाली (लिन्)  : पुं० [सं० बाहु√शाल्+णिनि] १. शिव। २. भीम। ३. धृतराष्ट्र का एक पुत्र। ४. एक दानव।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बाहुशीष  : पुं० [सं० ष० त०] बाँह में होनेवाला एक प्रकार का वायु रोग जिसमें बहुत पीड़ा होती है।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बाहु-श्रुत्य  : पुं० [सं० बहुश्रुत्य+ष्यञ्] बहुश्रुत होने की अवस्था या भाव। बहुत सी बातों को सुनकर प्राप्त की हुई जानकारी।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बाहु-संभव  : पुं० [सं० ब० स०] क्षत्रिय, जिनकी उत्पत्ति ब्रह्मा की बाँह से मानी जाती है।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बाहु-हजार  : पुं०=सहस्रबाहु। (यह शब्द केवल स्थानिक रूप में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ