बेंड/bend
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

बेड़  : पुं० [हिं० बाढ़] खेतों या वृक्षों के चारों ओर लगाई हुई बाढ़। मेंड़। पु० [हिं० बीड] नगद रुपया। सिक्का। (दलाल) पुं० [?] [स्त्री० बेड़नी, बेड़िन] नटों आदि के वर्ग की एक छोटी जाति जो गाने-बजाने का पेशा करती है।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बेड़ना  : सं० [हिं० बेड़+ना (प्रत्य०)] नये वृक्षों आदि के चारों ओर उनकी रक्षा के लिए छोटी दीवार आदि खड़ी करना। थाला बाँधना। भेंड़ या बाढ़ लगाना। स० [सं० विडंवन ?] तोड़ना-फोड़ना नष्ट-भ्रष्ट करना। उदा० बिजड़ा मुट्ठे बेड़ते बलभद्र।—प्रिथीराज।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बेड़नी  : स्त्री० [हिं० बेड़] बड़े जाति की स्त्री जो प्रायः देहातों में गाने-बजाने का पेशा करती है।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बेड़ा  : पुं० [सं० वेष्ट] १. बड़े लट्ठों, लकड़ियों या तख्तों आदि को एक में बाँधकर बनाया हुआ ढाँचा जिस पर बाँस का टट्रटर बिछा देते हैं और जिस पर बैठकर नदी आदि पार करते है। तिरना। मुहा०—बेड़ा डूबना=विपत्ति में पड़कर पूर्ण रूप से विनष्ट होना (किसी का) बेड़ा पार करना या लगाना=किसी को संकट से पार लगाना या छुड़ाना। विपत्ति के समय सहायता करके किसी का काम पूरा कर देना या रक्षा करना। २. बहुत सी नाबों या जहाजों आदि का समूह। जैसे—उन दिनों भारतीय महासागर में अमरीकी बेड़ा आया हआ था। ३. नाव। (ड़ि०) ४. झुंड। समूह। (पूरब) मुहा०—बेड़ा बाँधना=बहुत से आदमियों को इकट्ठा करना। लोगों को एकत्र करना। वि० [हिं० आड़ा का अनु० या सं० बलि=टेढ़ा] १. जो आँखों के समानांतर दाहिनी ओर से बाई ओर अथवा बाईं ओर से दाहिनी ओर गया हो। आड़ा। २. कठिन। मुश्किल। विकट। जैसे—बेड़ा काम।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बेड़िचा  : पुं० [देश०] बाँस की कमाचियों की बनी हुई एक प्रकार की टोकरी जो थाल के आकार की होती है और जिससे किसान लोग के खेत सींचने के लिए तालाब से पानी निकालते हैं।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बेड़िन  : स्त्री०=बड़नी।(यह शब्द केवल स्थानिक रूप में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
बेड़ी  : स्त्री० [सं० वलय] लोहे के कड़ों की जोड़ी या जंजीर जो कैदियों या पशुओं आदि को इसलिए पहनाई जाती है जिसमें वे स्वतंतापूर्वक घूम-फिर न सकें। निगड़। कि० प्र०—डालना।—देना।—पड़ना।—पहनना।—पहचाना। २. बाँस की टोकरी जिसके दोनों ओर रस्सी बँधी रहती है और जिसकी सहायता से नीचे से पानी उठाकर खेतों में डाला जाता है। ३. साँप काटने का एक इलाज जिसमें काटे हुए स्थान को गरम लोहे से दाग देते हैं। स्त्री० [हिं, बेड़ा का स्त्री० अल्पा०] १. नदी पार करने का अट्टर आदि का बना हुआ बेड़ा। २. नाव। (पश्चिम)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ