बेपेंदा/bependa
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

बेपेंदा  : वि० [हिं० बे+पेंदा] [स्त्री० बेपेंदी] जिसमें पेंदा न हो और इसी कारण जो इधर-उधर लुढ़कता हो। पद—बेपेंदी का लोटा=व्यक्ति जो अपने किसी निश्चय पर स्थिर न रहता हो। बल्कि दूसरों की बातें सुन-सुनकर अपना निश्चय बारबार बदलता रहता हो।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ