ब्रह्मस्तेय/brahmastey
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

ब्रह्मस्तेय  : पुं० [सं० ष० त०] गुरु की अनुमति बिना किसी को पढ़ाया हुआ पाठ सुनकर अध्ययन करना जिसे मनु ने अनुचित कहा है।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ