ब्रह्मांड/brahmaand
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

ब्रह्मांड  : पुं० [सं० ब्रह्मान्-अंड, ष० त०] १. चौदहों भुवनों का समूह जो अंडाकार माना गया है। संपूर्ण विश्व जिसके अनेक लोक है। विश्व गोलक। २. मत्स्य-पुराणानुसार एक महादान जिसमें सोने का विश्व गोलक (जिसमें लोक लोकपाल आदि बने रहते हैं) दान दिया जाता है। ३. कपाल। खोपड़ी। मुहावरा—ब्रह्मांड चटकना=(क) खोपड़ी फटना। (ख) बहुत अधिक ताप आदि के कारण सिर में बहुत पीड़ा होना।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
ब्रह्मांडीय  : वि० [सं०] समस्त ब्रह्मांड में होने या उससे संबंध रखनेवाला विश्वक (कास्मिक)।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ