ब्रह्म-नाड़ी/brahm-naadee
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

ब्रह्म-नाड़ी  : स्त्री० [सं० ष० त०] हठ योग में सुषुम्ना के अन्तर्गत वह नाड़ी जिससे होकर कुंडलिनी ब्रह्म-रंध्र तक पहुँचती हैं।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ