ब्रह्म-रात/brahm-raat
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

ब्रह्म-रात  : पुं० [सं० ब० स०] १. शुक्रदेव। २. याज्ञवल्क्य मुनि।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
ब्रह्म-रात्र  : स्त्री० [सं० रात्रि+अण्, ब्रह्म-रात्र, ष० त०] रात के अन्तिम चार दंड। ब्राह्म मुहूर्त।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
ब्रह्म-रात्रि  : स्त्री० [सं० ष० त०] ब्रह्मा की एक रात जो कल्प की मानी जाती है।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ