लच्छ/lachchh
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

लच्छ  : पुं० =लक्ष। वि० =लक्ष (लाख)। स्त्री० =लक्ष्मी। (यह शब्द केवल स्थानिक रूप में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
लच्छण  : पुं० [सं० लक्षण] १. स्वभाव। (डिं०) २. लक्षण। (डिं०) पुं० =लक्ष्मण। (यह शब्द केवल स्थानिक रूप में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
लच्छन  : पुं० १. =लक्षण। २. =लक्ष्मण। (यह शब्द केवल पद्य में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
लच्छना  : स्त्री० =लक्षणा।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
लच्छमण  : वि० [सं० लक्ष्मीवान्] धनवान्। अमीर। (डिं०) पुं० =लक्ष्मण।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
लच्छमी  : स्त्री० =लक्ष्मी।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
लच्छा  : पुं० [अनु०] [स्त्री, अल्पा० लच्छी] १. कुछ विशेष प्रकार से लगाये गये बहुत से तारों या डोरों का समूह। गुच्छे या धब्बे के रूप में लगाए हुए तार। जैसे—रेशम का लच्छा, सूत का लच्छा। २. किसी चीज के सूत की तरह ऐसे लंबे और पतले कटे हुए टुकड़े जो आपस में उलझकर मिल जाते हों। जैसे—अदरक, गरी, पेठे या प्याज का लच्छा। ३. किसी उबाली या पकायी हुई गाढ़ी चीज के रूप के लंबोतरे अंश को प्रायः आपस में मिले रहते हैं। जैसे—मलाई या रबड़ी के लच्छे। ४. मैदे की एक प्रकार की मिठाई जो प्रायः पतले लंबे सूत की तरह और देखने में उलझी हुई डोर के समान होती है। ५. पतली और हलकी जंजीरों से बना हुआ एक प्रकार का गहना जो हाथ या पैर में पहना जाता है। ६. एक प्रकार का घटिया और मिलावटी केसर।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
लच्छा-साख  : स्त्री० [देश] एक प्रकार की संकर रागिनी।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
लच्छि  : स्त्री० =लक्ष्मी। (यह शब्द केवल पद्य में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
लच्छित  : वि० =लछित। (यह शब्द केवल स्थानिक रूप में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
लच्छिनाथ  : पुं० [सं० लक्ष्मीनाथ] लक्ष्मीपति। विष्णु। (डिं०) (यह शब्द केवल पद्य में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
लच्छि-निवास  : पुं० [सं० लक्ष्मी निवास] विष्णु। नारायण। (यह शब्द केवल पद्य में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
लच्छिमी  : स्त्री०=लक्ष्मी। (यह शब्द केवल पद्य में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
लच्छी  : स्त्री० [हिं० लच्छा का स्त्री० अल्पा०] सूत, रेशम, ऊन, कलाबत्तू इत्यादि की लपेटी हुई गुच्छी। अट्टी। छोटा लच्छा। पुं० [?] एक प्रकार का घोड़ा। स्त्री० =लक्ष्मी।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
लच्छेदार  : वि० [हिं० लच्छा+फा० दार (प्रत्यय)] १. (खाद्य पदार्थ) जिसमें लच्छे पड़े या बने हों। लच्छोंवाला। जैसे—लच्छेदार रबड़ी। २. (बात) जो चिकनी-चुपड़ी तथा मजेदार हो।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ