लावा/laava
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

लावा  : पुं० [सं० लाजा] ज्वार, धान, रामदाने आदि को बालू में भूनने पर तैयार होनेवाला वह रूप जिसमें दाने-फूटकर फैल जाते हैं। मुहावरा—(किसी पर) लावा मेलना= (क) किसी को अधिकार या वश में करने के लिए मंत्र पढ़ते हुए उस पर लावा फेंकना। (ख) अधिकार या वश में करना। वि० [हिं० लावना] लगाई-बुझाई करनेवाला। जो पक्षों में झगड़ा खड़ा करनेवाला। पुं० [हिं० लवना] फसल काटनेवाला मजदूर। पुं० =लवा। पुं० [अं० लाबत] राख, पत्थर और धातु आदि मिला हुआ वह द्रव पदार्थ जो प्रायः ज्वालामुखी पर्वतों के मुख से विस्फोट होने पर निकलता है। (यह शब्द केवल स्थानिक रूप में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
लावाणक  : पुं० [सं०] मगध का निकटवर्ती एक देश।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
लावा-परछन  : पुं० [हिं०] एक वैवाहित रीति जिसमें कन्या की झोली अथवा उसके हाथ में पकड़ी हुई डलिया में उसके भाई लावा डालते या छोड़ते हैं। (यह शब्द केवल पद्य में प्रयुक्त हुआ है)
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
लावा-लुतरा  : वि० [हिं०] इधर की बाते उधर लगाकर लोगों को आपस में लड़ानेवाला।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ