लोहा/loha
लोगों की राय

शब्द का अर्थ खोजें

शब्द का अर्थ

लोहाँगी  : स्त्री० [हिं० लोहा+अंग+ई] ऐसी लाठी जिसके ऊपरी या निचले अथवा दोनों सिरों पर लोहा लगा हो। (इसका प्रयोग प्रायः मार-पीट के लिए होता है)।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
लोहा  : पुं० [सं० लोह] १. प्रायः काले रंग की एक प्रसिद्ध धातु जिससे अनेक प्रकार के अस्त्र, उपकरण बरतन, यंत्र आदि बनाये जाते हैं। (आयरन)। पद—लोहे की स्याही, लोहे के चने (दे० स्वतंत्र पद)। २. उक्त धातु से बने हुए अस्त्र जो युद्ध में शत्रुओं को काटने-मारने के काम आते हैं। जैसे—कटार, तलवार भाला आदि। मुहावरा—लोहा गहना=किसी से लड़ने के लिए हथियार उठाना। लोहा बजना=तलवारों भालों आदि से युद्ध या लड़ाई होना। मार-काट होना। लोहा बरसना=युद्ध-क्षेत्र में अस्त्रों आदि का बहुत अधिकता से उपयोग होना। घमासान युद्ध होना। (किसी का) लोहा मानना=किसी काम या बात में किसी की योग्यता, शक्ति आदि की श्रेष्ठता अधिक योग्य या शक्तिशाली समझना। (किसी से) लोहा लेना= (क) किसी से डटकर मार-पीट युद्ध या लड़ाई करना। (ख) किसी के सामने उसके बल, योग्यता आदि का मुकाबला करना। टक्कर लेना। भिड़ना। लोहा सहना=लोहा लेना। (राज०)। ३. लोहे का बना हुआ कोई उपकरण। लोहे की चीज या सामान। जैसे—लोहे का रोजगार लोहे की दूकान। ४. लाल रंग का बैल। वि० [स्त्री० लोही] १. लाल। २. बहुत अधिक कठोर या कड़ा।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
लोहाना  : अ० [हिं० लोहा+आना (प्रत्यय)] किसी चीज का अधिक समय तक लोहे का बरतन में रखे रहने के कारण लोहे के गुण, रंग स्वाद आदि से युक्त होना। पुं० वैश्यों की एक जाति।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
लोहार  : पुं० [सं० लौहकार] [स्त्री० लोहारिन या लोहाइन] एक जाति जो लोहे की चीजें बनाने का काम करती है।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
लोहारखाना  : पुं० [हिं० लोहार+फा० खानः] वह स्थान जहाँ बैठकर लोहार लोग लोहे की चीजें बनाते हैं।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
लोहारी  : स्त्री० [हिं० लोहार+ई (प्रत्यय)] लोहार अथवा लोहे की चीजें बनाने का काम या पेशा।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
लोहा-सारंग  : पुं० [हिं०] लगलग की जाति का एक प्रकार का पक्षी।
समानार्थी शब्द-  उपलब्ध नहीं
 
लौटें            मुख पृष्ठ